समुद्र में उतरे अमेरिका के तीन विमानवाहक पोत


इरादा उत्तर कोरिया को कठोर संकेत देने का

स्योल (ईएमएस)। अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने संयुक्त नौसेना अभ्यास शुरू कर दिया है, जिसमें तीन अमेरिकी विमानवाहक पोत भी शामिल हैं। रक्षा अधिकारियों के अनुसार, यह अभ्यास उत्तर कोरिया के लिए स्पष्ट चेतावनी है। चार दिनों तक चलने वाला यह सैन्य अभ्यास शनिवार को दक्षिण कोरिया के पूर्वी तट पर शुरू हुआ। दक्षिण कोरिया की सेना के अनुसार, अमेरिका के तीन पोत, यूएसएस रोनाल्ड रीगन, यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट और यूएसएस निमिट्ज शनिवार से मंगलवार तक चलने वाले इस सैन्य अभ्यास में भाग ले रहे हैं।

इसस पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को कहा था कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन की परमाणु महत्वाकांक्षा ने एशिया-प्रशांत क्षेत्र को बंधक बना दिया है। उन्होंने देशों का आह्वान किया कि उन्हें प्योंगयांग के खिलाफ एकजुट होना चाहिए। उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम में कटौती के लिये क्षेत्रीय समर्थन जुटाने के उद्देश्य से ट्रंप एशियाई देशों की यात्रा पर हैं और उन्होंने कहा है कि इस संकट को बातचीत से निपटाने का समय तेजी से खत्म हो रहा है।

ट्रंप ने वियतनाम में एशिया प्रशांत आर्थिक सहयोग संगठन (एपेक) की बैठक के दौरान कहा, इस क्षेत्र और इसके खूबसूरत लोगों के भविष्य को किसी तानाशाह की हिंसक विजय एवं परमाणु ब्लैकमेल की फंतासियों का बंधक नहीं बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र को आवश्यक रूप से उत्तर कोरिया द्वारा ज्यादा हथियारों की दिशा में उठाया गया कोई भी कदम ज्यादा खतरे की तरफ लेकर जायेगा, जिसके खिलाफ हमें साथ खड़े होना होगा।