भारत ने पारदर्शी शासन व्यवस्था के लिए 1200 कानूनों को खत्म किया


आसियान शिखर सम्मेलन में बोले मोदी- भारत मिनिमम गवर्नमेंट मैक्सिमम गवर्नेंस

मनीला (ईएमएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिलीपींस में आयोजित आसियान शिखर सम्मेलन में कहा कि भारत मिनिमम गवर्नमेंट मैक्सिमम गवर्नेंस के लिए प्रतिबद्ध है। भारत सरकार ने विगत तीन वर्षों में बेकार हो चुके 1200 कानून को खत्म किया है। हमारी सरकार पारदर्शी शासन व्यवस्था की दिशा में काम कर रही है।
आसियान शिखर सम्मेलन की 31वीं सालगिरह पर मोदी ने कहा कि भारत में ज्यादात्तर लोगों के पास बैंक खाते नहीं थे। हमने जन-धन योजना के माध्यम से करोड़ों लोगों की जिंदगी में बदलाव कर दिखाया। उन्होंने कहा कि जनधन योजना के तहत गरीबों को मिलने वाली सब्सिडी सीधा गरीबों के खाते में जाती है। हम आसान, प्रभावी और पारदर्शी शासन व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने की ओर काम कर रहे हैं।

भारत में व्यापार को आसान बनाया

मोदी ने कहा कि हमने भारत में व्यापार को आसान किया। इससे भारत में व्यापार करने की स्थिति बेहतर हुई है। यह किसी भी देश के लिए बड़ी उपलब्धि है। हालांकि, यह पर्याप्त नहीं है। हमें इसे और भी आगे ले जाना है और हमारी सरकार इसके लिए कृतसंकल्प है।
भारत-अमेरिका मिलकर कर रहे मानवता के लिए काम

समिट के दौरान मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से द्विपक्षीय वार्ता की। इस बातचीत में ट्रंप ने भारत की तारीफ की, जिसके लिए मोदी ने उनका शुक्रिया किया। मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध लगातार बेहतर हो रहे हैं और दोनों देश मिलकर एशिया और मानवता की बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं। मोदी और ट्रंप की पिछले छह महीनों में यह दूसरी मुलाकात है। भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों के बीच सामरिक महत्व के भारत-प्रशांत क्षेत्र को मुक्त, खुला और समावेशी रखने के लिए चतुर्भुज गठबंधन को आकार देने के उद्देश्य से विस्तृत चर्चा हुई।