बीजिंग की प्यास बुझाने 1200 किलोमीटर दूर से पानी लाया चीन


नदी जोड़ो परियोजना में चीन को असाधारण सफलता
नई दिल्ली। चीन ने बीजिंग में पेयजल की आपूर्ति करने के लिए १०० किलोमीटर दूर से पानी लाने का चमत्कार कर दिलाया है। १२ वर्ष में ८० अरब डालर की लागत से इस परियोजना को चीन ने पूरा किया है। १२०० किलोमीटर हाजियांग नदी का पानी बीजिंग की येलो नदी से जोड़कर बीजिंग को पानी दिया जा रहा है।
१२ वर्ष पूर्व ५९ अरब डालर की इस परियोजना का प्रथम चरण का खर्च ८० अरब डालर में पूर्ण हुआ। १९५२ में चीन के शक्तिशाली नेता माओत्सेतंग ने यह सपना देखा था। २००२ में चीन ने इस परियोजना को स्वीकृत किया था। इस परियोजना को स्वीकृत किया था। इस परियोजना को पूर्ण करने के लिए ४ लाख चीनी नागरिकों को पुर्नस्थापित किया गया। ४००० मीटर की सुरंग बनाने में चीनी इंजीनियरों को लगभग ८ वर्षो का वक्त लगा। चीन की यह अभी तक की सबसे बड़ी परियोजना है।
उल्लेखनीय है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की नदी जोड़ो परियोजना की परिकल्पना भी चीन आधारित थी। राजग सरकार में इस परियोजना के तत्कालीन अध्यक्ष सुरेश प्रभु ने चीन दौरे में इस परियोजना के अध्ययन की बात कही थी।