टाइम ने द साइलेंस ब्रेकर्स को पर्सन ऑफ द ईयर चुना


सूची में अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दूसरे नंबर पर

नई द‍िल्‍ली (ईएमएस)। मशहूर टाइम मैगजीन ने द साइलेंस ब्रेकर्स को पर्सन ऑफ द ईयर चुना है। साइलेंस ब्रेकर्स और कोई नहीं बल्कि अलग-अलग इंडस्ट्री के वो लोग हैं जिन्होंने यौन शोषण और मारपीट पर चुप्पी तोड़ी। इस सूची में अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दूसरे नंबर पर रहे। उनके अलावा इस लिस्ट में चीन के राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग भी शामिल हैं। गौरतलब है ‎कि अमेरिका की न्यूज मैगजीन टाइम साल के आखिर में पर्सन ऑफ द ईयर नाम से सालाना एडिशन निकालती है। इस एडिशन में उन लोगों, समूहों या विचारों को शामिल किया जाता है, जो उस साल अच्‍छे या बुरे तरह से किसी न किसी रूप में समाज को प्रभावित करते हैं।

बहरहाल द साइलेंस ब्रेकर्स में ढेरों लोग शामिल है। खासकर वो महिलाएं जिन्‍होंने इस साल हैशटैग मी-टू का इस्‍तेमाल करते हुए पहली बार हॉलीवुड के नामी प्रोड्यूसर हार्वे विंस्‍टीन पर यौन शोषण के आरोप लगाते हुए दुनिया के सामने आप बीती बयां की थी। इसके बाद दुनिया भर के लोगों ने मी-टू के नाम से अपने साथ हुई यौन शोषण की घटनाओं का जिक्र किया था। ऐसी ही कुछ म‎हिलाएं ‎जिनमें टीवी सीरियल ‘तारक मेहता का उल्‍टा चश्‍मा’ की बबीता जी यानी एक्ट्रेस मुनमुन दत्ता ने इस मामले पर एक पोस्ट शेयर किया था। उन्होंने लिखा था, मैं भी…इस तरह की समस्या पर पोस्ट शेयर करना, यौन शोषण के खिलाफ दुनियाभर में चल रहे इस कैंपेन से जुड़ना और इसे झेल चुकी हर महिला के साथ अपनी सहानुभूमि दिखाने से ही यह बात साफ होती है कि यह समस्‍या कितनी बड़ी है।

हॉलीवुड एक्ट्रेस एलिसा मिलानो के इस अभियान के तहत दुनियाभर की महिलाओं ने अपने साथ हुई यौन शोषण की घटनाओं का खुलासा किया था। प्रसिद्ध कॉमेडियन मल्लिका दुआ ने बचपन में अपने साथ हुई यौन शोषण की घटना की बात साझा की। हॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री जेनिफर लॉरेंस ने भी फिल्म इंडस्ट्री में अपने संघर्ष के दिनों को याद किया था। स्‍वरा भास्‍कर ने कहा ‎कि मुझे एक सीन पर चर्चा करने के लिए होटल में डायरेक्टर के कमरे में जाने को कहा गया और वहां जाकर मैंने उसे शराब पीते हुए देखा। पहले ही हफ्ते में वह प्‍यार और सेक्‍स की बातें करने लगा। राधिका आप्टे के मुताबिक केवल महिलाएं नहीं, पुरुषों को भी यौन शोषण का सामना करना पड़ता है। मैं विशेष तौर पर फिल्म जगत की बात कर रही हूं। मैं ऐसे कई पुरुषों को जानती हूं जो इसका शिकार हुए हैं।