मेहरानगढ़ दुर्ग एवं उम्मेद भवन पैलेस को नीले प्रकाश से जगमगाया गया


विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से मेहरानगढ़ दुर्ग एवं उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर को नीले प्रकाश से जगमगाया गया।

नीले सर्किल हैे मधुमेह जागरूकता के लिए वैश्विक प्रतीक

सूर्यनगरी के लिये यह गौरव की बात हैं की, विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर मधुमेह से बचाव की जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से लगातार तीसरे वर्ष भी मेहरानगढ़ म्यूजियम ट्रस्ट एवं जोधपुर स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ (जे एस पी एच) की सहभागिता से सूर्यनगरी की शान मेहरानगढ़ दुर्ग एवं उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर को नीले प्रकाश से जगमगाया गया।

इण्टरनेशनल डायबिटीज फेडेरेशन एवं “विश्व स्वास्थ्य संगठन” ने संयुक्त रूप से इस बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु जारी ब्लू सर्किल मधुमेह के प्रति जागरूकता को दर्शाता हैय नीले सर्किल को मधुमेह जागरूकता के लिए वैश्विक प्रतीक माना जाता है।

जे एस पी एच की विभागाध्यक्ष भावना सती नें जानकारी देते हुए बताया की निरन्तर मधुमेह रोगियों की संख्या में हो रही वृद्धि को देखते हुए 1991 में इण्टरनेशनल डायबिटीज फेडेरेशन एवं “विश्व स्वास्थ्य संगठन” ने संयुक्त रूप से इस बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु प्रति वर्ष “विश्व मधुमेह दिवस” आयोजित किया जाना तय हुआ था तब से हर वर्ष 14 नवम्बर विश्व मधुमेह दिवस के रूप में मनाया जाता है। मधुमेह को लेकर बड़े पैमाने पर जागरूकता बढ़ानी होगी और लोगों को अपनी जीवनशैली बदलने के लिए प्रेरित करना होगाय इसके तहत  जे एस पी एच द्वारा विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।