शताब्दी टॉयलेट की चिटकनी जाम होने से फंस गये कांग्रेसी नेता


मुश्किल से निकले बाहर 

नई दिल्ली । शताब्दी एक्सप्रेस में मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व संगठन प्रभारी चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी के लिए शौचालय जाना मुश्किलों भरा हो गया। टॉयलेट की चटकनी जाम होने से फंसे कांग्रेस नेता करीब डेढ़ घंटे बाद बाहर निकल पाए, वो भी तब जब उन्होंने अपने बेटे को फोन किया। घर पर मौजूद बेटे ने रेलवे हेल्पलाइन के नंबरों पर फोन किया। इसके बाद द्विवेदी बाहर आ सके।

दोपहर ०३.२२ बजे बापोल से चली शताब्दी एक्सप्रेस के कोच सी-४ में चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी सफर कर रहे थे। ट्रेन जब विदिशा पहुंचने वाली थी, तब वह शौचालय गए। बाहर निकलने के लिए दरवाजा खोलने की कोशिश की तो पता चला कि चटकनी जाम हो गई है। काफी देर तक वह दरवाजा खटखटाते रहे लेकिन, किसी को इश बात की जानकारी नहीं हो सकी। काफी देर कर प्रयास करने के बाद उन्होंने ०४.२२ बजे अपने बे नीरज द्विवेदी को फोन किया।

नीरज ने सबसे पहले रेलवे हेल्पलाइन १३८ नंबर पर फोन किया, लेकिन फोन रिसीव ही नहीं हुआ। इसके बाद उन्होंने पर १५१२ पर फोन कर वस्तुस्थिति की जानकारी दी। इसके कपीब आधे गंटे के बाद ललितपुर जीआरपी से संपर्क हो सका। जीआरपी ने तकनीकी टीम को कोच में भेजा। करीब एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद वह देट की चटकनी तोड़ने में कामयाब हो पाए। शाम को ०५.५५ बजे चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी बाहर आ सके।