बैक्टीरिया से अणुओं के उत्पादन का एक नया तरीका खोजा


वैज्ञानिकों का दावा-बैक्टीरिया कर सकते हैं कई बीमारियों का इलाज

नई दिल्ली (ईएमएस)। गट बैक्टीरिया से उत्पन्न अणुओं की मदद से मेटाबॉलिज्म में बदलाव लाकर कई विकारों का इलाज किया जा सकेगा। वैज्ञानिकों ने अणुओं के उत्पादन का एक नया तरीका खोज निकाला है। वैज्ञानिकों ने बैक्टीरिया से कई बीमारियों से इलाज का दावा भी किया है। वैज्ञानिकों के मुताबिक शरीर में मौजूद खरबों बैक्टीरिया का आपस में सहजीवी संबंध होता है, जो आपस में एक ही भाषा बोल कर इस रिश्ते की साठगांठ को मजबूत करते हैं। द रोकफेलर यूनिवर्सिटी और आइखान स्कूल ऑफ मेडिसिन की नई रिसर्च में इस बात पर विश्वास जताया है कि इस संबंध के चलते गट बैक्टीरिया रोगों पर उपचारात्मक लाभकारी प्रभाव डालेगा।

इस रिसर्च में ब्रैडी और उनके सह-अन्वेषक लुइस कोहेन ने पाया कि यूं तो गट बैक्टीरिया और मानव सेल एक-दूसरे से काफी अलग होते हैं, लेकिन उनकी रसायनिक भाषा एक ही होती है। यह रसायनिक भाषा लिगैंड्स नामक अणु पर निर्भर करती है। इसी कड़ी में, वैज्ञानिकों ने एक ऐसे तरीके का ईजाद किया जो गट बैक्टीरिया को ऐसे अणु पैदा करने योग्य बनाएगा जो बीमारी का उपचार कर सकते हों। लिगैंड्स मानव सेल के मेंमब्रेन को बांध कर एक विशिष्ट जैविक प्रभाव उत्पन्न करते हैं।

इस केस में अणुओं से उत्पन्न बैक्टीरिया मानव लिगैंड्स की नकल कर जीपीसीआर के रूप में जाने वाले रिसेप्टर्स की एक कक्षा से बांधते हैं। ब्रैडी ने कहा कि, ‘बहुत से जीपीसीआर मेटाबॉलिक डिसीज में फंसे होते हैं और ड्रग थैरेपी के सामान्य लक्षण माने जाते हैं। यही नहीं, वे आसानी से गैस्ट्रिक संबंधी मार्ग में मौजूद होते हैं, जहां पेट के जीवाणु भी पाए जाते हैं।