चार अप्रैल को पड़ेगा पूर्ण चंद्रग्रहण


इंदौर। वर्ष २०१५ में विश्वभर में चार आकाशीय घटनाएं घटित होने की संभावना है दो घटनाएं भारत में देखी जा सवेंâगी। जीवाजी वैद्यशाला उज्जैन के अधीक्षक राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता के मुताबिक २० मार्च को पूर्ण सूर्यग्रहण के साथ ये आकाशीय घटनाएं शुरू होंगी। हालांकि इस पूर्ण सूर्यग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकेगा। चार अप्रैल को पड़ने वाला पूर्ण चंद्रग्रहण भारत के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। उन्होंने बताया कि १३ सितंबर को आंशिक सूर्यग्रहण पड़ेगा तथा यह २०१५ का दूसरा सूर्यग्रहण होगा लेकिन इसे भी भारत में नहीं देखा जा सकेगा। इसके अलावा २९ सितंबर को दूसरा चंद्रग्रहण पड़ेगा तथा यह २०१५ का आखिरी ग्रहण होगा। यह चंद्रग्रहण के गुजरात के पश्चिमी हिस्से एवं राजस्थान के कुछ भागों में दिखाई देगा।