अब देश की हर घड़ी एक ही समय ‎दिखाएगी


नहीं होगा 17 सेकंड का अंतर, उपभोक्ता मंत्रालय ने शुरू की तैयारी

नई दिल्ली (ईएमएस)। देश की हर घड़ी के बीच फिलहाल 17 सेकेंड का अंतर होता है जो खत्म हो जाएगा। सरकार का मानना है कि इस कदम से उपभोक्ताओं को तो फायदा होगा ही आगे चलकर इसका सामरिक महत्व भी होने वाला है। उपभोक्ता मंत्रालय ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। अब देश में हमें और आपको अपनी घड़ी में समय मिलाने के लिए किसी और देश की तरफ देखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। भारत में काम कर रहे तमाम व्यवसायिक संस्थान, इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स और मोबाइल कंपनियों को अमेरिका स्थित संस्थान, नेशनल इंस्टिट़यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी की सेवाओं के सहारे रहना पड़ता है। इस सेवा के बदले कंपनियों को इस संस्थान को भारी भरकम किराया भी देना पड़ता है। इसका परिणाम ये भी है कि भारत में एक छोर से दूसरे छोर के बीच क़रीब 17 सेकेंड का अंतर पाया जाता है। इसी कमी को पाटने के लिए सरकार ने अब राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला की पांच क्षेत्रीय प्रयोगशालाओं में एटॉमिक वॉच लगाने का फैसला लिया है। बेंगलुरू, फरीदाबाद, गुवाहाटी, अहमदाबाद और भुवनेश्वर में ऐसे एटॉमिक वॉच लगाने के बाद इन्हें वाराणसी और नागपुर में भी लगाया जा रहा है।