विमान हादसा : जावा सागर में 40 यात्रियों के शव, मोदी ने जताया दुख


नईदिल्ली/जकार्ता । रविवार से लापता हुए एयर एशिया का विमान को सर्च टीम ने मंगलवार को आखिरकार खोज निकाला। एयर एशिया का यह विमान जावा सागर में गिर गया था जहां से सर्च टीम को विमान का मलबा और ४० शव मिले हैं। इंडोनेशिया ने मंगलवार को पुाqष्ट कर दी कि जावा सागर में मिला मलबा लापता एयरएशिया विमान का ही है। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विदोदो का कहना है कि उन्होंने खोजी दलों को यात्रियों और चालक दल को ढूंढने पर ध्यान वेंâद्रित करने को कहा है। इंडोनेशिया की राष्ट्रीय तलाश एवं बचाव एजेंसी के प्रमुख बामबैंग सुलिस्तयो का कहना है कि हमें ९५ फीसदी भरोसा है कि पाया गया मलबा इंडोनेशिया के सुराबाया शहर से उड़ान भरने वाले लापता एयरएशिया विमान का ही है। एयरबस ए-३२०-२०० में १६२ यात्री सवार थे।
इंडोनेशिया वायुसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी दवी पुत्रांतो का कहना है कि र्बोिनयो द्वीप के मध्य कालीमंतन प्रांत के पंगकलन बन से १९० किलोमीटर दूर ये मलबे पाए हैं। तलाशी अभियान में शामिल एक पायलट का कहना है कि उसने उसी इलाके में शवों तथा मलबों को देखा है। इस दुखद घटना पर भारत के पीएम नरेन्द्र मोदी ने भी ाqट्वट करके अपना दुख प्रकट किया है और इस हादसे के शिकार लोगों के घरवालों और परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट की। एयरएशिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) टोनी फर्नाडीज ने भी हादसे के शिकार लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने ट्वीट किया, कि एयरएशिया की तरफ से मैं संवेदना व्यक्त करता हूं। मैं कितना दुखी हूं, इसे शब्दों में बयां नहीं कर सकता।

० जावा सागर में ४० यात्रियों के शव
गौरतलब है कि इंडोनेशिया के सुराबाया शहर से िंसगापुर जा रहे एयर एशिया के विमान का रविवार सुबह करीब पौने पांच बजे हवाई यातायात नियंत्रण (एटीसी) से संपर्वâ टूट गया था। इस विमान ने १६२ लोग सवार थे और तब से ही इस विमान को खोजा जा रहा था।