‘घर वापसी’ को रोकने के लिये अमिताभ की मदद लेगी मोदी सरकार


० बच्चन को केन्द्र से विज्ञापन का प्रस्ताव
नईदिल्ली । आरएसएस और उससे जुड़े संगठनों ने ‘घर वापसी’ कार्यक्रम तेज करके वेंâद्र की मोदी सरकार को थोड़ी परेशानी खड़ी कर दी है। मोदी सरकार को यह िंचता सता रही है कि कहीं इस तरह के कार्यक्रमों से अल्पसंख्यक उनसे दूर न हो जाएं। सरकार ने इसकी काट के लिए अनोखा प्लान तैयार कर लिया है। अपनों से ही घिरे आरएसएस, धर्मांतरण बना धर्मसंकट प्लान के तहत अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को जिम्मेदारी सौंपी है कि वे उन इलाकों का दौरा करें, जहां अल्पसंख्यकों की आबादी ज्यादा है। वहां जाकर उन्हें स्थानीय लोगों को सही तथ्यों की जानकारी देने को कहा गया है।
वहीं दूसरी ओर महानायक अमिताभ बच्चन के सामने एक विज्ञापन का प्रस्ताव रखा गया है, जिसमें वे विकास के लिए लोगों से धर्म और जाति से ऊपर उठाने की गुजारिश करते नजर आ सकते हैं। यह विज्ञापन पीएम नरेंद्र मोदी की ही दिमाग की उपज बताई जा रही है। सूत्रों के अनुसार, मोदी ने इसके लिए खुद ही बिग बी से संपर्वâ साधा। गौरतलब है कि वर्ष २०१५ में बिहार जैसे राज्य में भी विधानसभा चुनाव होना है, जहां कई पैâक्टर अहम रोल निभा सकते हैं। लेकिन अब देखना यह होगा कि धर्मांतरण और ‘घर वापसी’ के दौर में मोदी सरकार अल्पसंख्यकों के बीच कितना भरोसा कायम रख पाती है।