युनिवर्सिटी के टैबलेट वितरण कार्यक्रम को चुनाव आचार संहिता का ग्रहण लगा


वीर नर्मद युनिवर्सिटी द्वारा कॉलेजों के छात्रों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नामवाला नमो टैबलेट वितरण की कार्यवाही शनिवार से शुरू की गई थी।
Photo/Loktej

टैबलेट पर प्रधानमंत्री मोदी का फोटो होने से अंतिम घड़ी पर वितरण रोका

सूरत। वीर नर्मद युनिवर्सिटी द्वारा कॉलेजों के छात्रों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नामवाला नमो टैबलेट वितरण की कार्यवाही शनिवार से शुरू की गई थी। टैबलेट पर प्रधानमंत्री का फोटो होने से कांग्रेस के कॉर्पोरेटर असलम सायकलवाला द्वारा आचार संहिता भंग होने का आरोप लगाने पर युनि. ने टैब्लेट वितरण रोक दिया।

कॉलेज के प्रथम वर्ष में प्रवेश पानेवाले छात्रों को एक हजार रुपए में नमो टैबलेट देने की योजना सरकार ने अमल में लाया था। आज के टेक्नोलॉजी के युग में कॉलेज के छात्र आधुनिकता और तकनीकी से अवगत हो,इसके लिए सरकार ने यह योजना तैयार किया था। द.गु. युनि. से जुड़े 104 कॉलेज के 12500 छात्रों द्वारा 1.25 करोड़ रुपए कॉलेजों के माध्यम से युनिवर्सिटी में जमा करा दिया था। पिछले 6-6 महीने तक युनि. के छात्रों को टैब्लेट नहीं दिया जा सका था।

शनिवार को युनि. के प्रशासकों द्वारा सभी कॉलेजों के स्टाफ को कन्वेन्सन हॉल में टैब्लेट लेने के लिए बुलाया गया था। टैब्लेट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का फोटो होने से कॉर्पोरेटर असलम सायकलवाला द्वारा इस संबंध में आचार भंग होने की शिकायत की गई। इस शिकायत के आधार पर कुलपति द्वारा युनिवर्सिटी से सभी टैब्लेट का वितरण रोक दिये जाने से अब लोकसभा चुनाव के बाद शैक्षणिक वर्ष पूर्ण हो जाने के बाद छात्रों को टैबलेट वितरित किया जाएगा।