सूरत : लिंबायम दुष्कर्म मामले में आरोपी अनिल ने कबूला जुर्म


लिंबायत क्षेत्र में ८ वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाले अनिल यादव को बिहार से सूरत लाने के बाद आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।
लोकतेज फोटो

बिहार से लाया गया सूरत; कहा – घर पर अश्लील वीडियो देखते समय खेलते-खेलते घर में घूस आई बच्ची को बनाया हवस का शिकार

सूरत। लिंबायत में साढे़ तीन वर्ष की मासूम बच्ची पर दुष्कर्म और हत्या करने वाले आरोपी की सूरत पुलिस ने प्राथमिक पूछताछ की। आरोपी ने कबूल किया कि वह अपने मोबाइल में अश्लील वीडियो देख रहा था, इसी दौरान बच्ची खेलते-खेलते उसके रूम में आ गई और उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी।

आरोपी अनिल यादव को बिहार से गिरफ्तार कर सोमवार को पुलिस कमिश्नर की कचहरी में पेश किया गया। प्राथमिक पूछताछ के बाद सूरत पुलिस कमिश्नर सतीष शर्मा द्वारा पत्रकार परिषद को संबोधित किया गया।

पुलिस कमिश्नर सतीष शर्मा ने कहा कि 14 अक्टूबर 2018 को रात के समय आरोपी अनिल यादव ने अपने घर पर ही अपराध को अंजाम दिया। वारदात को अंजाम देकर वह ट्रेन से बक्सर फरार हो गया और अपने दोस्त विनोद के घर छुपकर रहने लगा। आरोपी को खोजते हुए सूरत पुलिस बिहार पहुंची और स्थानीय पुलिस की मदद से उसे गिरफ्तार कर लिया।

जन आक्रोश को ध्यान में रखकर गोडादरा में कड़ा पुलिस पहरा, आरोपी भी कड़ी निगरानी में 
आरोपी को बिहार के बक्सर जिले से गिरफ्तार कर ट्रान्जिट रिमाण्ड प्राप्त कर सूरत लाया गया। आरोपी के खिलाफ लोगों में व्याप्त भारी आक्रोश को देखते हुए सूरत में उसे क्राइम ब्रांच में कड़े पहले में रखा गया है, जबकि पीड़िता के घर लिंबायत पुलिस ने चुस्त सुरक्षा व्यवस्था तैनात की है।
गत रात को लिंबायत के संजयनगर विस्तार में पीड़िता को न्याय दिलाने और आरोपी को फांसी पर चढ़ाने की मांग के साथ रैली निकाली गई। रैली निकालने वाले मराठी समाज के लोग और उत्तर भारतीय युवाओं के बीच किसी अन्य बात में खिटपिट होने से इस समग्र विस्तार में वातावरण तंग बन गया और भारी दहशत फैल गई। जघन्य कृत्य करनेवाले आरोपी पर चाहे जब हमला हो सकता है, ऐसी दहशत के बीच पुलिस ने चुस्त बंदोबस्त और चुस्त सुरक्षा व्यवस्था तैनात की है।

आरोपी पिछले 7 वर्ष से सूरत में एम्ब्रॉयडरी के कारखाने में काम करता था और पिछले दो महीने से गोडादरा में किराए के मकान में रहकर रंगाई का कार्य करता था। अनिल यादव ने कक्षा-9 तक पढाई की है, उसके परिवार में माता-पिता के अलावा 6 बहनें व 3 भाई हैं, जो सभी बिहार में मजदूरी करते हैं।