आसाराम दुष्कर्म मामला : लापता साधिका कामरेज पुलिस थाने पहुंची


सूरत। आसाराम के खिलाफ बलात्कार की शिकायत दर्ज कराने वाली विवाहिता अचानक परिवार केसाथ लापता हो गयी थी। पुलिस चारोंं दिशाओं में युवती की खोजबीन कर रही थी। इसी बीच युवती केइंदौर मेंं होने का पता चला। पुलिस की टीम इंदौर पहुंचकर युवती को कामरेज पुलिस थाने में ले आयी। पुलिस सूत्रों केअनुसार पीडि़ता दो-तीन दिन गांधीनगर कोर्ट मेंं हाजिर होगी। अब देखना यह है कि पीडि़ता आसाराम केपक्ष मेंं बयान देती है या विरोध में।
ज्ञातव्य है कि वर्ष 2013 मेंं आसाराम एवं नारायण सांई के खिलाफ सूरत की दो सगी बहनों ने दुष्कर्म की शिकायत दर्ज करायी थी। असाराम के खिलाफ शिकायत करने वाली बड़ी बहन की केस को गांधीनगर कोर्ट मेंं ट्रांसफर कर दिया गया था। केस की सुनवाई होने से पहले ही पीडिता ने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत अपने निवेदन को बदलने की अर्जी दी थी। कानून के अनुसार एक बाद निवेदन दर्ज होने के बाद उसे बदला नहींं जा सकता है। कोर्ट ने महिला की याचिका को खारिज कर दिया था।
गत 15 दिसंबर को पीडि़ता अमरेली मेंं संबंधी के यहां शादी की बात कर पुलिस जवानों को चकमा देकर परिवार के साथ फरार हो गयी थी। पुलिस जोरशोर से पीडि़ता की खोजबीन शुरु कर दी। अंतत: पीडि़ता के मोबाइल का लोकेशन इंदौर का मिला। सूरत एलसीबी पुलिस इंदौर पुलिस की मदद से पीडि़ता को खोजने का प्रयास किया। पुलिस केअनुसार पीडिता की पुलिस सुरक्षा को बढाया जाएगा। हाल में हथियारधारी हेड कांस्टेबल सहित तीन पुलिस जवान पीडि़ता की सुरक्षा मेंं तैनात थे। लोकल क्राइम ब्रांच पीडिता के संबंधियोंं एवं उससे मिलने वालोंं पर बारीकी से नजर रखेगी। जानकारी के अनुसार इस मामले में छोटी बहन पुलिस को जांच मेंं सहयोग कर रही है जबकि बड़ी बहन लापता होने का नाटक कर रही है।