‘लव जिहाद’ का शिकार होने से बचाने VHP देगी टीप!


Image credit : Pixabay.com

बंगाल में लवजिहाद के खिलाफ डोर-टू-डोर अभियान शुरु करेगी वीएचपी

नई दिल्ली । आने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए पश्चिम बंगाल में विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) लव जिहाद’ के मुद्दे को जोर शोर से उठाने जा रहा है। इस लेकर डोर-टू-डोर अभियान चलाएगा। वीएचपी अपने इस कैंपेन के जरिए लड़कियों और महिलाओं को टिप्स देगा। खासकर उन्हें जो किसी वजह से ‘लव जिहाद’ का शिकार हो गई हैं।

अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक वीएचपी द्वारा ऐसी महिलाओं से कहा जा रहा है जिन्होंने दूसरे धर्म में शादी की है कि गलती से उन्होंने कर ली, और उन्हें लगता है कि वह ‘लव जिहाद’ का शिकार हो गई हैं। उनसे कहा जा रहा है कि वह मांग में सिंदूर भरें, मंगलसूत्र पहनें। इसके अलावा हिंदू त्यौहार मनाएं और अपने घर में धार्मिक माहौल बनाएं। अगर उन्हें ये सब करने से कोई रोकता है तो इसके लिए वीएचपी या पुलिस से संपर्क करें। विश्व हिंदू परिषद से जुड़े बजरंग दल और दुर्गा वाहिनी पश्चिम बंगाल में इस अभियान से जुड़ गए हैं। बंगाल में दुर्गावाहिनी में 35 हजार सदस्य हैं। वहीं बजरंग दल के 40 हजार सदस्य हैं।

बजरंग दल और दुर्गा वाहिनी के सदस्य घर-घर जाकर लव जिहाद के खिलाफ पर्चे बांट रहे है। इसके साथ ही लोगों को लव जिहाद की शिकार हुईं महिलाओं को समझाने का काम कर रहे है। बंगाल वीएचपी के सचिव सचिंद्रनाथ सिन्हा का कहना है कि हमार ये कैंपेन पश्चिम बंगाल में जल्द शुरू होगा। ये राज्य में एक ऐसा मुद्दा है,जिस हम सबके सामने लाना चाहते हैं।हम इस मुद्दे पर लोगों को जागरूक करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पूरे बंगाल की ये एक बड़ी समस्या है।हम सभी हिंदू परिवारों को इस बारे में क्या करना है और क्या नहीं करना है, इस बारे में बताएंगे।

वीएचपी इससे पहले लव जिहाद के मुद्दे पर पैंफलेट और बुकलेट प्रकाशित कर चुकी है। इसमें विस्तार से बताया गया है कि लोग लव जिहाद को कैसे पहचानें और उससे कैसे बचें। इसमें उन लोगों को भी संबोधित किया गया है, जिन्होंने दूसरे धर्म में शादी कर ली है, इसके बाद उन्हें इससे निकलने के तरीके भी बताए गए हैं। वीएचपी के प्रवक्ता सौरिश मुखर्जी का कहना है कि हमने उन परिवारों की लिस्ट तैयार कर ली है,जिनकी बेटियां ‘लव जिहाद’ के शिकार में फंस गई हैं। हमारे कार्यकर्ता उनके घरों में जाएंगे और उनसे कहेंगे कि हम लव के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन लव जिहाद से हमारी लड़ाई है, जो हिंदू लड़कियों को उनके धर्म से दूर करने की साजिश है।