स्कूल के अंदर गाय, बाहर बैठकर पढ़ाई कर रहे छात्र


उत्तर प्रदेश में बेसहारा, आवारा मवेशियों का आतंक इस हद तक बढ़ गया है, कि कई जगह लोग इन्हें स्कूलों में बंद कर रहे हैं।
Photo/Twitter

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बेसहारा, आवारा मवेशियों का आतंक इस हद तक बढ़ गया है, कि कई जगह लोग इन्हें स्कूलों में बंद कर रहे हैं। इसी क्रम में प्रयागराज के किसानों ने आवारा पशुओं को स्कूल में बंद कर दिया, जिसके कारण बच्चे कड़ाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे पढ़ने को मजबूर हो गए। सोमवार सुबह शंकरगढ़ इलाके में भदवार गांव में जब छोटे बच्चे अपने प्राथमिक विद्यालय पढ़ने आए तो स्कूल में गाय बैलों को देखकर हैरान रह गए। विद्यालय के प्रधानाचार्य ने बताया कि रविवार रात इलाके में हुई बारिश और ओलों के कारण खेतों में खाने आए आवारा पशु गांव में घुस गए, जिन्हें गांव वालों ने स्कूल में बंद कर दिया। आधी रात से लेकर सोमवार दोपहर तक यह जानवर स्कूल में बंद रहे और बच्चों ने ठंड में बाहर त्रिपाल बिछाकर पढ़ाई करी।

बरवार गांव के सरपंच त्याग राज सिंह ने बातचीत में बताया कि गांव वाले ऐसा ना करें इसके लिए उन्हें हिदायत दी गई थी, परंतु आवारा पशुओं द्वारा फसल चर जाने से नाराज गांव वालों ने किसी की नहीं सुनी। इलाके में ऐसे कई किसान है, जिन्होंने पशुओं के आतंक की वजह से इस बार गेहूं की बवाई भी नहीं की। इसी गांव के निवासी विकास सिंह ने बताया कि उनकी धान की फसल बर्बाद हो गई, जिसके बाद उन्होंने पशुओं के खौफ से फसल ही नहीं लगाई। बता दे कि योगी सरकार ने अफसरों को हाल में ही दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा कि आवारा पशुओं पर लगाम लगाई जाए, परंतु यह आदेश फिलहाल कहीं भी अमलीजामा पहने नजर नहीं आ रहा।

– ईएमएस