काउंसलर्स की गलती से चढा एचआईवी वाला ब्लड, डोनर ने दी जान


काउंसलर्स की गलती से एक गर्भवती महिला को एचआईवी वाल खून चढा दिया गया, महिला और उसका बच्चा भी इस गंभीर बीमारी से पीडित हो गए।
Photo/Twitter
एक गर्भवती महिला को गलती से चढा एचआईवी वाला खून

मदुरै । काउंसलर्स की गलती से एक गर्भवती महिला को एचआईवी वाल खून चढा दिया गया, जिससे महिला और उसका बच्चा भी इस गंभीर बीमारी से पीडित हो गए। जब ब्लड डोनर को इस बारे में पता चला तो उसने ग्लानिवश आत्महत्या कर ली। मामला तमिलनाडु के मदुरै का है, जहां बीते बुधवार को एक गर्भवती महिला को गलती से एचआईवी पॉजिटिव डोनर का ब्लड चढ़ा देने के चार दिन बाद ब्लड डोनर ने आत्महत्या कर ली। डोनर की मां ने कहा कि वह ठीक था लेकिन जब उसने न्यूज में देखा कि उसका खून एक गर्भवती महिला को चढ़ा दिया गया है तो उसने सोचा कि उसे अब जिंदा नहीं रहना चाहिए और उसने चूहे मारने वाला जहर खा लिया।

आपको बता दें कि युवक के खून से महिला और उसका बच्चा भी एचआईवी पॉजिटिव हो गए थे। जिसके बाद बुधवार को भी युवक ने आत्महत्या करने की कोशिश की थी। जानकारी के मुताबिक, डोनर युवक करीब दो साल पहले एक सरकारी हेल्थ कैंप में साल 2016 में ब्लड डोनेट करने गया था, जहां वह एचआईवी पॉजिटिव पाया गया था। लेकिन वहां मौजूद काउंसलर्स ने लापरवाही बरती और युवक को इस बारे में जानकारी देने को गंभीरता से नहीं लिया, जिसके चलते उसे अपने एचआईवी पॉजिटिव होने के बारे में पता नहीं चल सका। इसके बाद दूसरा मौका था जब इस महीने युवक ने सत्तूर के जिला अस्पताल में ब्लड डोनेट किया। लैब टेक्निशन ने ब्लड पर ‘सेफ’ का लेबल लगा दिया और बाद में इसे गर्भवती महिला को चढ़ा दिया गया, जिससे वह महिला और उसका बच्चा दोनों ही एचआईवी पॉजिटिव हो गए थे। डोनर युवक करीब दो साल पहले एक सरकारी हेल्थ कैंप में साल 2016 में ब्लड डोनेट करने गया था, जहां वह एचआईवी पॉजिटिव पाया गया था।

– ईएमएस