महाराणा प्रताप को लेकर राजस्थान में घमासान, शिक्षामंत्री का पुतला फूंका


सर्व समाज के बैनर तले शनिवार को कांग्रेस और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का पुतला फूंका गया।
Photo/Twitter

जयपुर। राजस्थान में महाराणा प्रताप के नाम को लेकर घमासान छिड़ गया है। भाजपा महाराणा प्रताप के नाम पर चुनावी मैदान में खोई जमीन की तलाश में सड़क पर उतर आई है। सर्व समाज के बैनर तले शनिवार को कांग्रेस और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का पुतला फूंका गया। महाराणा प्रताप महान है या अकबर महान, के सवाल पर शिक्षा मंत्री के मौन रहने को लेकर राजस्थान में बवाल मचा हुआ है।

जयपुर में बड़ी संख्या में लोगों ने राजस्थान के शिक्षा मंत्री का पुतला फूंकते हुए शिक्षा मंत्री से इस्तीफे की मांग की। इनका कहना है कि जिस तरह से शिक्षा मंत्री के मुंह से यह तक नहीं निकला कि महाराणा प्रताप महान है, यह दिखाता है कि कांग्रेस तुष्टीकरण की राजनीति करने के लिए हमारे महापुरुषों का भी अपमान कर सकती है।

सर्वसमाज के बैनर तले सामाजिक संगठनों ने मांग की कि जल्दी कांग्रेस पार्टी की तरफ से इस पर सफाई नहीं दी गई तो पूरे राज्य में आंदोलन किया जाएगा और शिक्षा मंत्री का मुंह काला किया जाएगा। इस मामले को लेकर राजस्थान भर में अलग-अलग जगहों का प्रदर्शन जारी है। सामाजिक कार्यकर्ता दौलत सिंह ने कहा कि हम इसलिए प्रदर्शन कर रहे हैं, क्योंकि शिक्षा मंत्री अनपढ़ है। उनसे जब लोगों ने पूछा कि महाराणा प्रताप और अकबर महान कौन है तो कह रहे हैं कि इसका पता लगाएंगे। ऐसे शिक्षा मंत्री को तुरंत माफी मांगनी चाहिए।
प्रदर्शन में शामिल भाजपा नेता बीरेंद्र सिंह ने कहा महाराणा प्रताप के बारे में ऐसी सोच रखना निंदनीय है। महाराणा प्रताप ने जंगल में घास की रोटी खाई थी और इस तरह से शिक्षा मंत्री का बयान की महाराणा प्रताप और अकबर महान कौन है; पता लगाएंगे, शर्मनाक है। यह कांग्रेस की सोच को दर्शाता है। राजपूत नेता शेर सिंह ने कहा कि महाराणा प्रताप का अपमान किसी भी कीमत पर नहीं सहेंगे। उन्होंने कहा शिक्षा मंत्री के माफी मांगने तक प्रदर्शन जारी रहेगा।

– ईएमएस