हीरा व्यापारी के खिलाफ 280 करोड़ की धोखाधड़ी का मामला दर्ज


नई दिल्ली (ईएमएस)। केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) ने सन 2017 में पंजाब नेशनल बैंक से 280.70 करोड़ रुपए से अधिक की धोखाधड़ी के मामले में हीरा व्यापारी नीरव मोदी, उनके भाई, पत्नी और कारोबारी सहयोगी के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने हाल में हीरा व्यापारी के घर समेत उनसे संबंधित 21 ठिकानों पर छापेमारी की थी। जिसमें अनेक दस्तावेज बरामद किए गए हैं। रिपोर्ट में मोदी, उनके भाई निशाल, पत्नी एमी और मेहुल चिनूभाई चोकसी को आरोपी बनाया गया है। इस मामले में दो बैंक अधिकारियों गोकुलनाथ शेट्टी (सेवानिवृत्त) और मनोज खारत को भी आरोपी बनाया गया है। सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि जिन ठिकानों पर छापेमारी की गई उनमें इन कंपनियों के कार्यालय और मुम्बई और सूरत में स्थित सेज इकाइयां शामिल हैं। अधिकारियों के अनुसार सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत पर मोदी का नाम धोधाधड़ी के मामले में डाला है। पीएनबी का आरोप है कि मोदी और उनके भाई निशाल, पत्नी एमी तथा मेहुल चिनूभाई चोकसी ने बैंक के अधिकारियों के साथ साजिश रचकर धोखधड़ी की जिससे बैंक को भारी नुकसान हुआ। रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि बैंक कर्मचारियों ने डायमंड आर यूएस, सोलर एक्सपोट्र्स, स्टेलर डायमंड्स को लाभ पहुंचाने के लिए बैंक को 2017 के दौरान 280.70 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाया। पीएनबी ने कहा बैंक ने कर्ज के ‘रोलओवर’ का अनुरोध खारिज कर दिया और सीबीआई को जांच और दोषियों के खिलाफ मामला चलाने के लिए सूचित करने का निर्णय किया।