बिन लैब लाए ही पकड़ा जा सकेगा झूठ, इजरायल से आई नई मशीन


दिल्ली सरकार की फरेंसिक लैब में झूठ पकड़ने वाली एक ऐसी मशीन लाई गई है, जिसमें आरोपी को लैब तक लाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार की फरेंसिक लैब में झूठ पकड़ने वाली एक ऐसी मशीन लाई गई है, जिसमें आरोपी को लैब तक लाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। जुर्म करके बचना अब आसान नहीं होगा। उसकी आवाज की रिकॉर्डिंग की जांच करके भी यह पता लगाया जा सकेगा कि वह झूठ बोल रहा था या सच। यह अत्याधुनिक मशीन इजरायल से मंगवाई गई है। अभी आरोपी की इजाजत से ही उसका लाई डिटेक्टर टेस्ट हो सकता है। उसे फरेंसिक लैब में बुलाकर उसके सिर, छाती और कलाइयों में इंस्टूमेंट लगाए जाते हैं। कई तरह के सवाल पूछकर उनके जवाबों और उस दौरान धड़कनों में हुए बदलाव को खास मशीन के जरिए मापा जाता है और पता लगाया जाता है कि वह झूठ तो नहीं बोल रहा। यह प्रक्रिया काफी मुश्किल होती है।

रोहिणी की फरेंसिक लैब में लगाई गई नई मशीन को मौजूदा लाइ डिटेक्टर टेस्ट के मुकाबले ज्यादा सटीक बताया जा रहा है। अगर आरोपी लैब में आए तब भी उसे ईसीजी जैसे इंस्ट्रूमेंट्स नहीं लगाए जाएंगे। मशीन ऑन करके सवाल पूछे जाएंगे। जवाब से मशीन भांप लेगी कि कौन सा जवाब सच है और कौन सा झूठ। मशीन बुधवार से काम करना शुरू कर देगी।

– ईएमएस