त्वचा कैंसर में असरदार रहेगी ये तकनीक!


कैंसर के इलाज के लिए इम्यूनोथेरेपी जैसी आधुनिक तकनीकों को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली के डॉक्टर अब भारत में शोध करेंगे।
Photo/Twitter

नई दिल्ली  | कैंसर के इलाज के लिए इम्यूनोथेरेपी जैसी आधुनिक तकनीकों को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली के डॉक्टर अब भारत में शोध करेंगे। इसके लिए कनाडा के मैकगिल विश्वविद्यालय के डॉक्टरों के साथ शोध करने की योजना बनाई है। दिल्ली के इंडिया हेबिटेट सेंटर में आयोजित एक कार्यक्रम में अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर अजीत सक्सेना ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि इम्युनोथेरेपी कीमोथेरेपी से बेहतर विकल्प है। डॉक्टर अजीत सक्सेना के मुताबिक आमतौर पर कैंसर के इलाज के लिए कीमोथेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि इसका सबसे बड़ा नुकसान यह है कि यह स्वस्थ कोशिकाओं और कैंसर की कोशिकाओं के बीच अंतर नहीं कर सकता, जिसके कारण शरीर की स्वस्थ कोशिकाएं भी नष्ट हो जाती हैं। ऐसे में शरीर की बीमारियों से लड़ने की ताकत जो पहले से कमजोर हो चुकी होती है, वह और भी कमज़ोर हो जाती है। कनाडा के मैकगिल विश्वविद्यालय के प्रोफेसर राजोश्री रॉय चौधरी ने बताया कि मेलेनोमा कैंसर के इलाज में इम्यूनोथेरेपी बेहतर साबित हुई है। दुनिया के कई देशों में इसे लेकर शोध चल रहे हैं। बतादें कि दिल की बीमारियों के बाद कैंसर भारत में मौतों का दूसरा सबसे बड़ा कारण है। इसके अलावा भारत में 2018 में कैंसर के कारण 8.17 फीसदी मौतें हुईं।

– ईएमएस