जवानों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने दिया जाएगाः पीएम मोदी


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश की तरक्की के पीछे कई बलिदानों का योगदान है।
Image : Twitter

धुले। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश की तरक्की के पीछे कई बलिदानों का योगदान है। उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं कि हम सभी किस गहरी वेदना से गुजर रहे हैं। पुलवामा में जो हुआ, उसको लेकर आपके आक्रोश को मैं समझ रहा हूं। यहां महाराष्ट्र के 2 वीर सपूतों ने पुलवामा में अपने प्राणों की आहूति दी है।

दरअसल पीएम मोदी शनिवार को महाराष्ट्र के यवतमाल और धुले जिले का दौरे पर थे जहां उन्होंने कई परियोजनाओं की शुरुआत की। विदर्भ के यवतमाल में प्रधानमंत्री, आदिवासी छात्रों के लिए एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय का उद्घाटन किया। इसके अलाव प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत यवतमाल में बनाए गये घरों की चाभियां कुछ लाभार्थियों को सौंपी। इस दौरान उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पुलवामा में जो हुआ, उसको लेकर आपके आक्रोश को मैं समझ रहा हूं, शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा, उन्होंने कहा, ‘एक देश के नाते हमारा काम यहीं से शुरू होता है। जिन्होंने अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया, उनके परिवार के साथ हम हमेशा खड़े रहें। ये संयम का समय है, संवेदनशीलता का समय है, ये शोक का समय है। लेकिन हर परिवार को मैं ये भरोसा देता हूं कि हर आंसू का जवाब लिया जाएगा। आतंकी संगठनों ने, आतंक के सरपरस्तों ने जो गुनाह किया है, वो चाहे जितना छिपने की कोशिश करें, उन्हें सज़ा जरूर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सैनिकों में और विशेषकर सीआरपीएफ में जो गुस्सा है, वो भी देश समझ रहा है, इसलिए सुरक्षाबलों को खूली छूट दी गई है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत की यह नीति रही है कि हम किसी को छेड़ते नहीं हैं, लेकिन नए भारत को किसी ने छेड़ा तो वो छोड़ते भी नहीं हैं।

उन्होंने कहा, ‘आज एक ऐसे समय पर मैं आप सभी के बीच में आया हूं जब पुलवामा में हमारे जवानों पर हमले को लेकर देश आक्रोशित है। एक तरफ देश गुस्से में है तो दूसरी तरफ हर आंख नम है।’उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा के साथ ही देश की समृद्धि के लिए भी हमारी सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है। इसलिए विकास की पंचधारा यानि बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई, बुजुर्गों को दवाई, किसान को सिंचाई और जन-जन की सुनवाई पर बल दिया जा रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि थोड़ी देर पहले सड़क से जुड़े करीब 500 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास किया गया है, इसके अलावा पुणे-अजनी-पुणे हमसफर एक्सप्रेस को भी हरी झंडी दिखाई गई है। ये ट्रेन दौंड, मनमाड, भुसावल और बडनेरा होते हुए जाएगी। इससे इन सभी जगहों के लोगों को बहुत सुविधा होने वाली है। पीएम मोदी ने कहा, ‘धुले शहर में औद्योगिक शहर बनने की पूरी संभावना है। ये ऐसी जगह स्थित है, जहां से देश के अलग-अलग शहरों में व्यापार की संभावना है। यहां से कई बड़े-बड़े नेशनल हाईवे गुजरते हैं। आज यहां की कनेक्टिविटी को और सशक्त करते हुए दो रेल लाइनों का शिलान्यास किया गया है।’ यवतमाल के साढ़े 14 हज़ार से अधिक गरीब परिवारों ने आज अपने नए घर में भी प्रवेश किया है। केंद्र सरकार ने 2022 तक हर बेघर को पक्का घर देने का लक्ष्य रखा है और सरकार तेज़ी से अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ रही है।अब तक देश के गांव और शहरों में 1।5 करोड़ गरीबों के घर बनाए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि मुझे याद है कि पिछली बार जब मैं यहां आया था, तो शेतकरी समाज से लंबा संवाद किया था। आज ये जानकारी देना चाहता हूं कि हाल के बजट में शेतकरी समाज के साथ-साथ, जो हमारे घुमंतु समाज के लोग हैं, हमारे श्रमिक हैं, इन सभी के लिए बड़ी योजनाओं का ऐलान किया गया है।