पांच राज्यों के एग्जिट पोल हुए सही तो मोदी ब्रांड पर असर, राहुल गांधी के लिए संजीवनी


एग्जिट पोल के नतीजे सही साबित हुए तो लोकसभा चुनाव और देश की राजनीति ब्रांड मोदी पर क्या असर पड़ेगा, कयास लगने शुरू हो गए हैं।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर एग्जिट पोल आ रहे हैं उनमें ज्यादातर पोल में राजस्थान में कांग्रेस की सरकार और मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस आगे बताया जा रहा है। लेकिन एक अन्य पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कड़ी टक्कर है। एग्जिट पोल के नतीजे सही साबित हुए तो लोकसभा चुनाव और देश की राजनीति ब्रांड मोदी पर क्या असर पड़ेगा, इस पर भी कयास लगने शुरू हो गए हैं। पोल्स के मुताबिक राज्य की 230 सीटों में से भाजपा को 110 सीटें मिलती दिख रही हैं। वहीं, कांग्रेस को 109 सीटें मिल सकती हैं। जबकि बीएसपी के खाते में 2 और अन्य के खाते में 9 सीटें जा सकती हैं। छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी इसबार बुरी तरह फंस गई है, बीजेपी, कांग्रेस से एक सीट से पिछड़ती नजर आ रही है। तेलंगाना में जीत का सपना देख रही कांग्रेस गठबंधन और बीजेपी दोनों को बड़ा झटका मिला है। तेलंगाना में टीआरएस फिर से वापसी करती दिख रही है। वहीं पोल्स में मिजोरम के एग्जिट पोल में मिजो नेशनल फ्रंट यानी एमएनएफ सत्ता हासिल कर सकती है।

बात दे कि राजस्थान की सीएम वसुंधरा के कामकाज और व्यवहार से पहले भी पार्टी नाराज है। प्रदेश में टिकट बंटवारे से लेकर पार्टी प्रदेशाध्यक्ष बनाने तक में उन्होंने मनमर्जी से काम किया है। उनके रवैये से मानवेंद्र सिंह सहित कई नेता भी नाराज हुए। इसके बाद भी पार्टी ने उन्हें सीएम बनाए रखा और अगर अब राजस्थान में बीजेपी चुनाव हारती है तो निश्चित तौर पार्टी में उनका कद घटेगा मध्य प्रदेश में कांग्रेस अगर सरकार बनाने में कामयाब हो जाती है तो लोकसभा चुनाव को देखकर कई लोकलुभावन फैसले ले सकती है जिसमें किसानों की कर्जमाफी का ऐलान सबसे प्रमुख है। राहुल गांधी भी कई मंचों से कह चुके हैं, अगर ऐसा हुआ तो लोकसभा चुनाव में बीजेपी को बड़ा नुकसान हो सकता है। छत्तीसगढ़ में भी 15 सालों से बीजेपी सत्ता में काबिज है और लोकसभा चुनाव में उसने शानदार प्रदर्शन किया था। कांग्रेस इस राज्य में भी बीजेपी से सीटें छीनने के लिए कई बड़े कदम उठा सकती है।

देश की राजनीति में अपना सिक्का जमाने के लिए काफी सालों से कोशिश कर रहे है कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की छवि में बड़ा सुधार होगा। काफी दिनों बाद कांग्रेस के घर में खुशी आएगी। इसके बाद कांग्रेस में नई ऊर्जा का संचार होगा और लोकसभा चुनाव में पार्टी ज्यादा आक्रामक तरीके से बीजेपी का सामना कर पाएगी। मोदी ब्रांड और लहर पर भी असर पड़ेगा जिसके दम पर बीजेपी अभी तक अभियान चला रही थी और पार्टी को एक बार अपनी रणनीति पर विचार करना होगा। इतना ही नहीं इन तीनों राज्यों में जीत के बाद कांग्रेस के साथ कई दल भी आने के बारे में सोच सकते हैं।

समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और अजीत जोगी की पार्टी के मंसूबे ध्वस्त हो जाएंगे। इन तीनों पार्टियों को इन राज्यों में अपना वजूद बनाए रखने के लिए कांग्रेस या बीजेपी किसी एक पास जाना होगा। एग्जिट पोल के नतीजों के मुताबिक इन हैसियत इन राज्यों में सिर्फ कुछ वोट बटोरने तक ही जाएगी। मिजोरम को लेकर आए एग्जिट पोल में एमएनएफ के हाथ में सत्ता आते दिख रही है। हालांकि बीजेपी को यहां पर एक भी सीट नहीं मिल रही है लेकिन मिजोरम में कांग्रेस का भी जनाधार घटता जा रहा है। तेलंगाना में टीआरएस के पास सत्ता फिर जाते दिखाई दे रही है। अगर ऐसा हुआ तो कांग्रेस का टीडीपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला गलत साबित होता दिखाई दे रहा है।

– ईएमएस