आंतकी मसूद को बचाकर अपने ही घर में घिरे पाक पीएम इमरान खान


आसिफ अली जरदारी और बेनजीर भुट्टो के बेटे और पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल भुट्टो ने इमरान सरकार पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं।
Photo/Twitter

अमेरिका ने चीन को दी चेतावनी

नई दिल्ली। चीन की आड़ लेकर अपने घर में पलने वाले आतंकी मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी बनने से रोकने पर खुश हो रहे पाकिस्तान के अंदर ही इस बात का विरोध शुरु हो गया है। पूर्व प्रधानमंत्री आसिफ अली जरदारी और बेनजीर भुट्टो के बेटे और पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल भुट्टो ने इमरान सरकार पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं। बिलावल ने कहा है कि पाकिस्तान की धरती और दूसरे देशों में आतंक फैलाने वाले खुलेआम घूम रहे हैं। बिलावल भुट्टो ने कहा, आज चाहे विपक्षी नेता हों या कोई ब्लॉगर या सरकार का कोई आलोचक उसके खिलाफ पूरे तंत्र का प्रयोग किया जाता है। हम प्रतिबंधित संगठनों को छूट देकर उन्हें मदद करके दुनिया में क्या संदेश दे रहे हैं। ये कैसा देश है जहां एक चुने हुए प्रधानमंत्री को फांसी सुना सकते हो, लेकिन ये जो प्रतिबंधित संगठन हैं जो हमारे देश के बच्चों को मारते हैं और दूसरे देशों में आतंकवाद फैलाते हैं उनके खिलाफ कुछ नहीं कर सकते। भुट्टो ने कहा, ये कैसे हो सकता है कि तीन बार के चुने हुए प्रधानमंत्री (नवाज शरीफ) आज बीमार हैं लेकिन जेल में हैं। लेकिन आप प्रतिबंधित संगठनों को गिरफ्तार नहीं कर सकते है। सिंध असेंबली के स्पीकर को आय से ज्यादा संपत्ति के मामले में इस्लामाबाद से गिरफ्तार करवा सकते हो लेकिन प्रतिबंधित संगठनों को नहीं करवा सकते। उनकी संपत्तियां कहां से आती हैं? उस पर भी तो जांच बैठाएं, इस सवाल का जवाब जरुर आना चाहिए।

दरअसल जैश के सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव रद्द हो गया है। चीन ने यूएनएससी में मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकवादी घोषित करने के प्रस्ताव पर वीटो लगा दिया है। इस तरह भारत सहित फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन की मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने की कोशिशों को झटका लगा है। सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्य चीन ने एक बार फिर अपनी वीटो पावर का इस्तेमाल कर मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकवादी घोषित होने से रोक दिया है। अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में चीन के अड़ंगे से अमेरिका भड़क गया है। अमेरिका ने चीन को साफ साफ लफ्जों में चेतावनी दी है। अमेरिका ने कहा है कि चीन ने चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में चौथी बार अड़ंगा डाला है। अमेरिका ने कहा कि चीन ऐसा कर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को उसका काम करने से रोक रहा है।

– ईएमएस