एक हो सकता है सोनिया-मेनका गांधी परिवार!


लोकसभा और विधानसभा चुनाव के प्रचार की खबरों के बीच राजनीतिक गलियारे में इन दिनों इस बात की काफी चर्चा हो रही है कि गांधी परिवार एक हो सकता है।
(File Photo: IANS)

राजनीतिक गलियारे में बढ़ी हलचल

नई दिल्ली (ईएमएस)। इन दिनों लोकसभा और विधानसभा चुनाव के प्रचार की खबरों के बीच राजनीतिक गलियारे में इन दिनों इस बात की काफी चर्चा हो रही है कि गांधी परिवार एक हो सकता है।

अग्रेंजी अखबार में छपे एक लेख में इसका जिक्र किया गया है कि सोनिया और मेनका गांधी परिवार एक साथ आ सकता है। पिछले काफी सालों से दोनों गांधी परिवार अलग हैं। सोनिया गांधी ने जहां कांग्रेस में रहकर ही अपने राजनीति सफर को आगे चलाया वहीं मेनका गांधी और उनके बेटा वरुण गांधी भाजपा में हैं। ये कयास बेबुनियाद नहीं लगाए जा रहे हैं।

दरअसल हाल ही में नरभक्षी बाघिन अविनी की हत्‍या को लेकर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने महाराष्‍ट्र के वनमंत्री सुधीर मुंगतीवार पर ट्विटर और सार्वजनिक रूप से हमलावार होकर इस मामले में फणडवीस सरकार से कड़ी कार्रवाई की मांग की है। अपनी ही पार्टी से मनमुटाव के चलते मेनका गांधी इन दिनों सुर्खियों में हैं। वहीं मुंगतीवार कैबिनेट के कद्दावर मंत्री हैं। वे संघ के भी पुराने और वफादार माने जाते हैं। दूसरी तरफ मेनका के बेटे वरुण भी पार्टी हाईकमान से खुद को पूरी तरह अलग कर चुके हैं। साल 2017 में उत्तरप्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों में भी वरुण ने पार्टी के लिए चुनाव प्रचार नहीं किया था।

वहीं सोनिया गांधी ने भी हाल ही में मेनका गांधी के मंत्रालय द्वारा महिलाओं के लिए आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की थी। हालांकि इस दौरान मेनका गांधी खुद कार्यक्रम में मौजूद नहीं थी लेकिन सोनिया के काफी समय तक वहां रूकी थीं। सोनिया का मेनका के कार्यक्रम में आना सभी को के लिए चर्चा का विषय बन गया तो दूसरी ओर राहुल गांधी ने भी बाघिन अविनी की हत्या का विरोध कर अपनी चाची मेनका गांधी का साथ दिया। इन घटनाओं के बाद भाजपा में भी अटकलें लगाई जा रही हैं कि गांधी परिवार के दोनों धड़े एक हो सकते हैं।