बड़ी वारदात के लिए बैंक लूट रहे हैं सिमी के ५ आतंकी!


नई दिल्ली। पाकिस्तान के पेशावर में आतंकी हमला होने के बाद देश में कई शहरों में हाई अलर्ट है। खुफिया सूत्रों ने चेतावनी दी है कि पेशावर का बहाना लेकर जमात उद दावा का मुखिया हाफिज सईद अब पाकिस्तान में भारत के खिलाफ माहौल बना रहा है। इसी क्रम में यह भी पता चला है कि सिमी से जुड़े पांच आतंकी किसी बड़ी वारदात की तैयारी के लिए फंड जुटाने के लिए बैंकों को लूटने की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।
शेख महबूब उर्फ गुड्डू उर्फ मलिक, अमजद उर्फ दाऊद, मोहम्मद असलम उर्फ बिलाल, मोहम्मद अजाजुद्दीन और जाकिर हुसैन। ये वो पांच नाम हैं जिनकी पुलिस को शिद्दत से तलाश है। ये किसी भी शहर में आम लोगों के आसपास भी पाए जा सकते हैं। अबू फजल गैंग के ये पांचों आतंकी पिछले साल एक अक्टूबर को मध्यप्रदेश के खंडवा जेल से फरार हुए थे। अब खुफिया एजेंसियों को इनके बारे में एक सनसनीखेज जानकारी हाथ लगी है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ये न सिर्फ एक के बाद एक धमाके कर रहे हैं बल्कि आतंक की किसी बड़ी साजिश को अंजाम तक पहुंचाने के लिए बैंक भी लूट रहे हैं।
खुफिया एजेंसियों को शक है कि देश के कई इलाकों से एक के बाद एक कई बैंकों को इन्होंने लूटा है और उसका पैसा ये आतंकी साजिश के लिए इक_ा कर रहे हैं। बिजनौर में १२ सितंबर को हुए धमाके की जगह से राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को दो ऐसी चीजें मिली उससे जांच एजेंसियां सकते में आ गईं हैं। ये दोनों सुराग ठोस थे मगर फिर भी एजेंसियां फरार सिमी के आतंकियों को अब तक नहीं तलाश पाईं। खुफिया सूत्रों की मानें तो जांच में ये सनसनीखेज खुलासा हुआ कि ये आंतकी माचिस की तीलियों से भी बम बनाने में माहिर हैं। जांच आगे बढ़ी तो ये भी पता चला कि एक फरवरी को इन्हीं लोगों ने तेलंगाना के करीम नगर में एक बैंक भी लूटा था। यही नहीं फोन की जांच ने एक के बाद इस गिरोह के बारे में कई और जानकारियों का खुलासा किया। इसी फोन से जांच एजेंसियों को अब ये भी पता लग चुका है कि इस गिरोह ने देश के पांच शहरों की खास तरह से रेकी की है। पता चला कि सिर्फ करीम नगर में इन्होंने बैंक ही नहीं लूटा था, बल्कि इस साल एक मई को चेन्नई रेलवे स्टेशन पर इन्होंने बैंगलोर गुवाहाटी एक्सप्रेस में ब्लास्ट को भी अंजाम दिया था। इसके अलावा इन लोगों ने पुणे के एक मंदिर के पास पार्किंग में भी १० जुलाई को विस्फोट किया था।