वैज्ञानिक डॉ. सुब्रह्मण्यम ने कहा, राफेल से बेहतर कोई फाइटर प्लेन नहीं


इसरो से सेवानिवृत्त वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. नागास्वामी शिवा सुब्रह्मण्यम ने कहा कि राफेल से बेहतर कोई फाइटर प्लेन नहीं है।
Photo/Twitter

भोपाल । देश में राफेल लड़ाकू विमान पर राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। इस बीच इसरो से सेवानिवृत्त वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. नागास्वामी शिवा सुब्रह्मण्यम ने कहा कि राफेल से बेहतर कोई फाइटर प्लेन नहीं है। उन्होंने साफ किया हैं कि राफेल की उपयोगिता पर सवाल उठाना ठीक नहीं। डॉ. शिवा सुब्रह्मण्यम यह बात मीडिया से बात करते हुए कही। बता दें कि डॉ. शिवा सुब्रह्मण्यम उन वैज्ञानिकों में हैं, जिन्होंने न सिर्फ पोखरण के परमाणु विस्फोट के दौरान पूर्व राष्ट्रपति स्व. डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की टीम में काम किया था, बल्कि नासा जैसी दुनिया की शीर्ष संस्था ने भी उनके सुझाव मानकर उन्हें सम्मान दिया। वे निजी प्रवास पर भोपाल आए थे। उन्‍होंने कहा कि फाइटर प्लेन की दुनिया की सर्वश्रेष्ठ तकनीक जिन देशों के पास है, उनमें फ्रांस शामिल है। इसकारण रफाल की तकनीक या उपयोगिता पर प्रश्न चिन्ह लगाना ठीक नहीं। कीमत के सवाल पर कहा कि अमेरिका और रूस भी ये प्लेन बनाते हैं पर रफाल की गुणवत्ता पर सवाल नहीं उठाया जा सकता है। उन्होंने डॉ.कलाम के बारे में कहा कि वे हमेशा सिर्फ बेस्ट ही चुनते थे। भारत के बारे में डॉ. शिवा सुब्रह्मण्यम ने कहा कि अब हमारा देश गरीब नहीं है।

डॉ.सुब्रह्मण्यम ने कहा कि हमने पीएसएलवी में एक ऐसा प्रयोग किया था कि यान को तिरंगे के रंग में रंगकर अंतरिक्ष में भेजा गया था। उन्होंने बताया कि अंतरिक्ष में रंग भेजना नामुमकिन होता है पर हमारे द्वारा किया यह प्रयोग सफल रहा था। मोदी सरकार की सराहना करते हुए वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कहा कि गगन यान प्रोजेक्ट लंबे समय से पेंडिंग था, लेकिन मोदी सरकार ने इस दस हजार करोड़ के प्रोजेक्ट को मंजूर कर ऐतिहासिक काम किया है।

– ईएमएस