ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से ‎लिंक करने की तैयारी, बनेगा कानून


अभी तक पेन कार्ड से लेकर अन्य सभी जरुरी आईडी को आधार से जोड़ा जा चुका है। ड्राइविंग लाइसेंस को भी आधार से जोड़ा जा रहा है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। अभी तक पेन कार्ड से लेकर अन्य सभी जरुरी आईडी को आधार से जोड़ा जा चुका है। अब इसी कवायद को आगे बढ़ाते हुए ड्राइविंग लाइसेंस को भी आधार से जोड़ा जा रहा है। बढ़ते सड़क हादसों को देखते हुए यह कानून बनाने की कवायद शुरु की जा रही है। ता‎कि दोषी को सजा ‎मिल सके और ‎बेगुनाह को इंसाफ।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पंजाब में एक कार्यक्रम में कहा कि सरकार जल्द ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ने को अनिवार्य करेगी। पंजाब के फगवाड़ा में लवली प्रोफेशनल विश्वविद्यालय में 106वीं भारतीय विज्ञान कांग्रेस में उन्होंने कहा ‎कि हम जल्द एक कानून लाने जा रहे हैं, जिसके बाद ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ना जरुरी होगा। बहरहाल, आधार से जोड़ने के बाद आप भले ही अपना नाम बदल लें, लेकिन बॉयोमैट्रिक्स नहीं बदल सकते हैं। आप न आंख की पुतली को बदल सकते हैं और न ही उंगलियों के निशान को। आप जब भी डुप्लीकेट लाइसेंस के लिए जाएंगे तो प्रणाली कहेगी कि इस व्यक्ति के पास पहले से ड्राइविंग लाइसेंस है और इसे नया लाइसेंस नहीं दिया जाना चाहिए।

– ईएमएस