अब जेएनयू में ऑल-इन-वन स्मार्ट कार्ड से दर्ज होगी उपस्थिति


जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में अब शिक्षक और छात्रों की उपस्थिति के लिए स्मार्ट कार्ड की शुरुआत करने जा रही है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । देश के सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय के रूप में जाने जाने वाली जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में अब शिक्षक और छात्रों की उपस्थिति के लिए स्मार्ट कार्ड की शुरुआत करने जा रही है, जिसके बाद स्टूडेंट और स्टाफ कार्ड के माध्यम से अपनी उपस्थिति दर्ज करेंगे। ज्ञात हो कि यह फैसला इस वक्त आया है, जब शिक्षक संघ अनिवार्य उपस्थिति के फैसले को लेकर प्रशासन का विरोध कर रहे हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, चिंतामणि महापात्रा ने कहा कि सभी संस्थानों में बायोमेट्रिक मशीन लगा दी गई है और यह जल्द ही काम करना शुरू कर देगी और प्रशासनिक भवन में भी सिस्टम लगा दिए गए हैं।

बताया जा रहा है कि कार्ड-आधारित बायोमेट्रिक अटेंडेंस पॉलिसी छात्रों, कर्मचारियों और टीचर्स की उपस्थिति के लिए है। यह एक कार्ड आईडी कार्ड, बायोमेट्रिक अटेंडेंस, पुस्तकालय कार्ड और स्वास्थ्य केंद्र कार्ड के रूप में काम करेगा। साथ ही इस कार्ड में उपस्थिति का रिकॉर्ड होगा, जिसकी जानकारी सिर्फ एक टेक्निल पर्सन के पास होगी। वहीं महापात्रा ने यह भी कहा कि अनिवार्य अटेंडेंस पॉलिसी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के दिशानिर्देशों के अनुसार है, जिसमें बताया गया है कि एक टीचर को हर रोज कम से कम पांच घंटे के लिए परिसर में उपलब्ध रहना पड़ेगा। बता दें कि शिक्षक संघ, प्रशासन की ओर से लागू की गई अटेंडेंस प्रक्रिया के खिलाफ हैं। साथ ही उन्होंने एक सर्वे के आधार पर बताया था कि दुनियाभर के 21 देशों की 75 यूनिवर्सिटीज में से जेएनयू की अटेंडेंस पॉलिसी सबसे खराब है।

– ईएमएस