नरेन्द्र मोदी के इस नये नारे से मिल गई भाजपा को ‘चौकीदार चोर है’ नारे की काट


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (File Photo: IANS)

लोकसभा चुनाव 2019 की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है। मतदान में महीने भर का समय रह गया है। आने वाले दिनों में चुनाव प्रचार अपने चरम पर होगा। भाजपा जहां पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक के बाद बदली राजनीतिक हवा से जोश में है, वहीं कांग्रेस हर संभव प्रयास कर रही है कि चुनाव तक राफेल का मुद्दा मतदाताओं के दिमाग में छाया रहे। जैसा कि आप जानते हैं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राफेल मामले में कथित भ्रष्टाचार को अनिल अंबानी और ‘चौकीदार चोर है’ के नारे से अपनी सभाओं में जिंदा रखने हर संभव प्रयास करते हैं।

वैसे तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में राफेल मुद्दा और ‘चौकीदार चोर है’ चला भी था। इससे नारे से भाजपा को निसंदेह नुकसान हो रहा था। ऐसे में उसके लिये यह जरूरी था कि इस नारे की काट ढूंढी जाए।

अब एन चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस सबसे ज्यादा राजनीतिक नुकसान पहुंचा रहे नारे की काट ढूंढ ली है। मोदी ने ‘चौकीदार चोर है’ नारे के सामने भारतीय जनता पार्टी के चुनाव प्रचार का आगाज करते हुए नया नारा दिया है ‘मैं भी चौकीदार हूं’।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट करके ‘मैं भी चौकीदार हूं’ गाना प्रस्तुत करते हुए कहा कि, ‘आपका चौकीदार डट कर देश की सेवा कर रहा है। लेकिन मैं अकेला नहीं हूं। हर कोई चौकीदार है जो भ्रष्टाचार, गंदगी, सामाजिक दूषणों के ‌खिलाफ लड़ रहा है। भारत के विकास के लिये मेहनत करने वाला हर कोई चौकीदार है। आज, हर भारतीय कह रहा है, ‘मैं चौकीदार हूं’।

 

वैसे भी नरेन्द्र मोदी राजनीति के पुराने खिलाड़ी हैं। बाजी पलटना कोई उनसे सीखे। ‌अपने विरोधियों को उन्हीं के बाणों से घायल करने का लंबा इतिहास रहा है। ‘मौत का सौदागर’, ‘नीच’ जैसे उनके खिलाफ उपयोग में लाये गये विशेषणों का किस कदर अपने चुनाव प्रचार में उपयोग करके उन्होंने विरोधियों को मात दी है। अब ‘चौकीदार चोर है’ के नारे के सामने उन्होंने हर भारतीय को ‘मैं भी चौकीदार हूं’ कहकर खड़ा कर दिया है। वैसे हर भारतीय बेशक मोदी का उनका समर्थक नहीं। लेकिन अब से जब-जब ‘चौकीदार चोर है’ नारा लगेगा, कम से कम मोदी समर्थकों को लगेगा कि वार उन पर किया जा रहा है और वे ‘मैं भी चौकीदार हूं’ कहते हुए राजनीतिक मुकाबला दुगनी ताकत से करेंगे। इतना ही नहीं, हर चुनाव में एक ऐसा वर्ग होता है तो फैन्स पर यानि किनारे बैठा होता है, किसी एक पार्टी विशेष के पक्ष में नहीं होता और आखिरी क्षण किसी भी पार्टी की ओर रूख कर सकता है। ऐसे नारे इस वर्ग को अपने पाले में लाने के लिये काफी कारगर साबित हो सकते हैं।

कांग्रेस को पता है इस अभियान की ताकत

प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस इस बात को समझ चुकी है कि यदि भाजपा के इस ये प्रचार अभियान का उतनी की मजबूती से मुकाबला नहीं किया गया तो वोट बैंक में सैंध लगना लाजिमी है। इसीलिये कांग्रेस के प्रवक्ता ने ट्ववीट कर कहाः

 

आधुनिक तकनिक का उपयोग अपने प्रचार में करने के लिये माहिर भारतीय जनता पार्टी इस नये अभियान को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने के लिये कोई उपाया जाया नहीं होने देगी। सोशल मीडिया पर जो भी लोग प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से #MainBhiChowkidar हैशटैग का उपयोग कर रहे हैं, उन्हें प्रधानमंत्री मोदी के हस्ताक्षर वाला कार्ड भेजा जा रहा है। आपने लोकतेज में इस ‌अभियान संबंधी समाचार ट्वीटर के माध्यम से पढ़ा होगा। अब ट्वीटर पर लोकतेज को प्रधानमंत्री के नाम से अभिनंदन कार्ड भेजा गया है। एक नजर डालेंः

 

अब देखना होगा कि सोशल मीडिया पर चल रहे इस वॉर में किसका नारा किस पर कितना भारी पड़ता है और कौन किसको कितने वोट दिला पाता है।