देश की पहली बुलेट ट्रेन को झटका


नईदिल्ली। देश की पहली बुलेट रेलवे परियोजना को ज़ोर का झटका लगा है। मुंबई-अहमदाबाद रूट पर चलने वाली बुलेट ट्रेन के स्टेशन के लिए जमीन देने से एमएमआरडीए ने साफ इंकार कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक जहां से बुलेट ट्रेन स्टार्ट होती, वह जमीन एमएमआरडीए यानी मुंबई महानगर क्षेत्र विकास प्राधिकरण की है और यह बांद्रा-कुर्ला कॉमप्लेक्स में है।

प्राधिकरण के संयुक्त परियोजना निदेशक दिलीप कावाठकर का कहना है कि हमने रेलवे को पत्र लिखकर सूचित कर दिया है कि हम वाकई बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स की अपनी ज़मीन देने की स्थिति में नहीं है। रेलवे को किसी और ज़मीन की तलाश करनी चाहिए। मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन मोदी सरकार की वरीयता सूची पर है और पीएम ने चुनाव के पहसे से इसकी घोषणा कर रखी है। ७०,००० करोड़ रु की इस परियोजना को जापान की आर्थिक मदद मिलने की उम्मीद है।

एमएमआरडीए अधिकारियों का कहना है कि रेलवे बुलेट ट्रेन का केन्द्र या तो बान्द्रा टर्मिनस ले जाए या फिर लोकमान्य तिलक टर्मिनस पर इससे यात्रियों को सुविधा होगी। वहां से आना-जाना आसान होगा।