तिब्बत में भारी भूस्‍खलन, ब्रह्मपुत्र में बाढ़ का खतरा, चीन ने भारत को आगाह किया


तिब्बत में हुए भारी भूस्खलन से ब्रह्मपुत्र नदी में कृत्रिम झील बन गई है, इस झील की वजह से अरुणाचल प्रदेश में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।

नई दिल्ली। तिब्बत में हुए भारी भूस्खलन से ब्रह्मपुत्र नदी में कृत्रिम झील बन गई है, जिसमें बड़ी मात्रा में पानी जमा हो गया है। इस झील की वजह से अरुणाचल प्रदेश में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। एक पखवाड़े के भीतर यह दूसरा मौका है, जब चीन ने ब्रह्मपुत्र नदी में बाढ़ की आशंका को देखते हुए भारत के लिए चेतावनी जारी की है।

जल संसाधन मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चीन ने 17 अक्टूबर को भारत को बताया था कि तिब्बत की यरलुंग संगपो नदी में भूस्खलन से एक कृत्रिम झील बन गई है। इस बार भी तिब्बत में उसी जगह पर भूस्खलन हुआ है और झील बन गई है। पानी ज्यादा जमा होने से झील टूटने लगी है। हालांकि, अधिकारी ने यह भी कहा है कि पंद्रह दिन पहले की तुलना में इस बार स्थिति ज्यादा भयावह नहीं है।

यह नदी चीन में यरलुंग संपगो, अरुणाचल प्रदेश में सियांग और असम में ब्रह्मपुत्र नदी के नाम से जानी जाती है। चीन से मिली जानकारी के बाद अरुणाचल प्रदेश में ब्रह्मपुत्र नदी के किनारे रहने वाले लोगों को सतर्क कर दिया गया है। इस साल अप्रैल में भारत और चीन के बीच ब्रह्मपुत्र और सतलुज नदी पर जल संबंधी जानकारी साझा करने का समझौता हुआ था। जिसके बाद चीन ने मई-जून से दोनों नदियों से संबंधित डाटा साझा करना शुरू किया।

– ईएमएस