दिल्ली एम्स के डॉक्टरों ने २ लड़कों के पेट से निकाला टूथब्रश


दो युवकों को दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने एंडोस्कोपी कर दोनों के पेट से ब्रश निकाला।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। पेट साफ न होने पर डॉक्टर की बजाय एक बाबा के यहां जाकर उनकी सलाह मानना दो युवकों को इतना भारी पड़ गया कि उन्हें एंडोस्कोपी ही करानी पड़ी। यह वाकया हर शख्स को पढ़ना चाहिए जो अपनी बीमारियों के लिए डॉक्टर के पास न जाकर किसी हकीम या बाबा के पास जाते हैं। दरअसल दो युवकों ने एक बाबा की सलाह पर पेट साफ न होने पर गले तक टूथब्रश से सफाई की। १ दिन इसी के चक्कर में ब्रश पेट के अंदर चला गया जिसके बाद उनकी तकलीफ कम होने के बजाय बढ़ गई और आंतें फटने तक की नौबत आ गई।

बताया जा रहा था कि हालत गंभीर होने पर दोनों को दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने एंडोस्कोपी कर दोनों के पेट से ब्रश निकाला। डॉक्टरों ने जानकारी दी है कि उत्तर प्रदेश के आगरा में रहने वाले गौरव और दिल्ली निवासी आबिद को क्रमशः अक्तूबर और दिसंबर में एम्स के आपातकालीन विभाग में भर्ती कराया गया। दो अलग-अलग शहरों से होने के बावजूद दोनों की समस्या एक जैसी थी कि उनकी आहार नली के रास्ते टूथब्रश उनके पेट में चला गया था। इस वजह से दोनों को खाने-पीने में बहुत परेशानी हो रही थी। दोनों ने सिटी स्कैन कराया तो उन्हें पता चला कि पेट में ब्रश अटका है जो दिक्कतें पैदा कर रहा है। डॉक्टरों ने एंडोस्कोपी से ब्रश निकालने की कोशिश की पर आड़ा हो जाने की वजह से ब्रश निकालने के लिए एम्स के गैस्ट्रोइंट्रोलॉजी विभाग के डॉक्टरों की मदद ली गई। तब जाकर कहीं ब्रश निकाला जा सका। दरअसल दोनों युवकों का पेट साफ नहीं होता था, उन्हें कब्ज की शिकायत थी। इसके लिए वह एक बाबा के संपर्क में आए। बाबा ने पेट साफ करने के लिए उपाय बताया कि गले तक ब्रश से सफाई करो। दोनों ऐसा करने लगे लेकिन एक दिन उनका ब्रश अंदर चला गया और पेट में जाकर अटक गया।

– ईएमएम