साल 2018 में बेजॉस की दौलत बढ़ी, जकरबर्ग को हुआ नुकसान


साल 2018 में शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव से दुनियाभर के अरबपतियों को करीब 451 अरब डॉलर (31425 अरब रुपए) का नुकसान हुआ है।
Photo/Twitter
दुनियाभर के अरबपतियों को 451 अरब डॉलर का नुकसान हुआ

नई दिल्ली। साल 2018 में शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव से दुनियाभर के अरबपतियों को करीब 451 अरब डॉलर (31425 अरब रुपए) का नुकसान हुआ है। एशिया में सबसे ज्यादा झटका चीनी अरबपतियों को लगा है। ब्लूमबर्ग की अरबपतियों की रैंकिंग में शामिल 40 चीनी अरबपतियों में से दो तिहाई से अधिक की संपत्ति में गिरावट देखी गई। 2018 में सबसे ज्यादा चपत अमेरिकी अरबपतियों को लगी। उनकी संपत्ति कुल 76 अरब डॉलर कम हो गई। इसकी बड़ी वजह दिसंबर में बाजार में आई गिरावट रही। फेसबुक के एक के बाद एक विवादों में घिरने के बीच मार्क जकरबर्ग की संपत्ति सबसे ज्यादा घटी। उनकी नेटवर्थ करीब 20 अरब डॉलर कम होकर 53 अरब डॉलर रह गई। चीन के वांग चियानलिन, जैक मा और मा हाटेंग 2018 में टॉप 10 लूजर्स में शामिल रहे। इंडेक्स से 50 लोग बाहर हो गए। इनमें चीन या हांगकांग के 11, अमेरिका के 9 और रूस के 4 लोग थे। इस लिस्ट से बाहर होने वालों में चेक रिपब्लिक के आंद्रेज बाबीज भी शामिल थे। उनके पास केमिकल एंड एग्रीकल्चरल कंपनी एग्रोफर्ट है। वहीं रूसाल का शेयर गिरने से रूस के ओलेग देरिपास्का की नेटवर्थ में कमी आई।

वांडा ग्रुप के वांग जियानलिन को 10.8 अरब डॉलर का नुकसान हुआ, जो एशिया में किसी अरबपति को हुए नुकसान की तुलना सबसे अधिक है। जेडी डॉट कॉम के फाउंडर रिचर्ड लियू को 4.8 अरब डॉलर का नुकसान हुआ। वहीं अमेरिकी अरबपतियों की कुल संपत्ति 76 अरब डॉलर कम हो गई। साल 2018 में हालांकि दुनियाभर के बाजारों में भले ही गिरावट आई हो, लेकिन कुछ लोगों की दौलत में जोरदार इजाफा हुआ। वीडियो गेम फोर्टनाइट की लोकप्रियता का ऐसा असर हुआ कि गेममेकर टिम स्वीने ने 2018 में 7.2 अरब डॉलर की कमाई कर डाली। डब्ल्यूई फैमिली ऑफिसेज के मैनेजिंग पार्टनर माइकेल जेनर ने कहा कि 2018 वेल्थ क्रिएशन के लिए अच्छा साल रहा। ‎वित्तीय बाजार में भले ही यह मुश्किलों वाला साल रहा, लेकिन कंपनियों के जरिए दौलत हासिल करने वालों के लिए यह अच्छा रहा। 2018 में ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स में स्वीने सहित 31 लोग शामिल हुए।

ऑनलाइन बुकमेकर बेट365 ग्रुप के ब्रिटिश फाउंडर डेनिस कोएट्स ने भी इस इंडेक्स में एंट्री ली। इस रैंकिंग के अनुसार कोएट्स के पास क्वीन एलिजाबेथ II से करीब 10 गुनी ज्यादा दौलत है।

कोएट्स के लिए तो 2018 अच्छा रहा, लेकिन शेयर बाजारों की उथल पुथल ने कई अमीर लोगों को नुकसान भी पहुंचाया। 2018 में दुनिया के 500 सबसे अमीर लोगों की दौलत 451 अरब डॉलर कम हो गई। यह 2017 से ठीक उलट स्थिति है। डॉलर में आमदनी के लिहाज से सिंगापुर के अरबपतियों का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा और उनकी संपत्ति 2.5 अरब डॉलर बढ़ी। इसके चलते सिंगापुर के अमीरों की कुल नेटवर्थ 38 अरब डॉलर हो गई। ऐमजॉनडॉटकॉम के फाउंडर और दुनिया में सबसे अमीर व्यक्ति जेफ बेजॉस को 2018 में लगातार दूसरे साल सबसे ज्यादा फायदा हुआ। उनकी नेटवर्थ करीब 24 अरब डॉलर बढ़कर 123 अरब डॉलर हो गई। हालांकि, साल की दूसरी छमाही में उनको चपत लगी जब शेयर बाजारों में गिरावट आई। सितंबर के पीक से बेजॉस की संपत्ति में 45 अरब डॉलर की कमी आई। 2018 में चीन के अरबपतियों की संपत्ति करीब 76 अरब डॉलर कम हुई, लेकिन शाओमी के फाउंडर ली चुन सहित वहां के कुछ अमीरों ने रफ्तार बनाए रखी। चुन 2018 में संपत्ति बढ़ाने में बेजॉस के बाद दूसरे नंबर पर रहे। उनकी दौलत 8.6 अरब डॉलर बढ़ी।

– ईएमएस