बाबा रामदेव का विवादित बयान- जो दो से ज्यादा बच्चे पैदा करें, उससे वोटिंग अधिकार वापस ले लें


रामदेव ने कहा, इस देश में जो 2 से ज्यादा संतान पैदान करने पर उसका वोटिंग अधिकार ले लेना चाहिए।
(Photo: Amlan Paliwal/IANS)

हरिद्वार। योग गुरु बाबा रामदेव की ख्याति योग आसनों भर तक नहीं है, उनकी तीखी जुबान भी कभी-कभी विवाद पैदा कर देता है। योग और पतंजलि उत्पादों के अलावा अकसर अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले योगगुरु स्वामी रामदेव ने एक और बयान दिया है। रामदेव के मुताबिक, जो 2 से ज्यादा बच्चे पैदा करे उससे वोटिंग अधिकार वापस ले लेना चाहिए। रामदेव ने इसके अलावा अपना उदाहरण देते हुए कहा कि मेरी तरह जो व्यक्ति शादी ना करे, उसे समाज में विशेष सम्मान मिलना चाहिए। हरिद्वार में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रामदेव ने कहा, इस देश में जो हमारी तरह विवाह ना करे, उनका विशेष सम्मान होना चाहिए। विवाह करे भी तो 2 से ज्यादा संतान पैदान करने पर उसका वोटिंग अधिकार ले लेना चाहिए।

उन्होंने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा, पुरातन काल में जनसंख्या कम थी तो वेदों में तो 10-10 संतानें पैदा करने तक कहा गया है। अब जिसके सामर्थ्य हो, कर लेना। 1-2 उनमें से हमें दे देना। अब तो वैसे ही 125 करोड़ से ज्यादा देश की आबादी है। उन्होंने आगे कहा, लेकिन अगर कोई प्रज्ञावान पुरुष है या स्त्री है, अगर वह विवेकशील और पूर्ण जागृत आत्मा हो तो वह एक ही हजारों, लाखों, करोड़ों पर भारी पड़ता है, यह भारती ज्ञान परंपरा है।

ज्ञात हो कि इससे पहले राम मंदिर के मसले पर रामदेव ने कहा था कि अगर न्यायालय फैसले में देरी करेगा तो सरकार कानून लाकर मंदिर निर्माण करेगी। उन्होंने कहा था, यदि न्यायालय के निर्णय में देर हुई तो संसद में जरूर इसका बिल आएगा, आना ही चाहिए। राम जन्मभूमि पर राम मंदिर नहीं बनेगा तो किसका बनेगा? संतों/राम भक्तों ने संकल्प किया है कि अब राम मंदिर में और देर नहीं। मुझे लगता है कि इस वर्ष शुभ समाचार देश को मिलेगा।

– ईएमएस