पत्नी की हत्या के बाद खतरनाक मंसूबों को अंजाम दे पाता उससे पहले धरा गया ‘साइको किलर’


पत्नी की हत्या के बाद खतरनाक मंसूबों को अंजाम दे पाता उससे पहले ही पुलिस ने 'साइको किलर' को धर दबोचा।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। पत्नी की हत्या के बाद खतरनाक मंसूबों को अंजाम दे पाता उससे पहले ही पुलिस ने ‘साइको किलर’ को धर दबोचा। इस साइको किलर पर पर एक-एक करके 8 हत्याएं करने का जुनून सवार था। आगे का खूनी सफर तय कर पाता, उससे पहले ही पुलिस ने उसे पकड़ लिया। लेकिन उसने जो खुलासा किया उसे सुनकर अब पुलिस भी मान रही है कि 8 हत्याओं से दिल्ली दहल जाती। दरअसल, किसी हॉरर फिल्म जैसी लगने वाली यह कहानी मुंडका की है, जहां एक साइको ने पत्नी की करंट लगाकर और गला घोंटकर हत्या कर दी। राजीव नाम के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से पुलिस ने तीन पिस्टल और 25 कारतूस बरामद किए। पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि वह अपनी नौकरी जाने के जिम्मेदार मैनेजर समेत 8 लोगों की हत्या करने की योजना बना रहा था। उसे ये भी डर था कि उसके जेल जाने पर उसकी पत्नी सोनिया का क्या होगा। आरोपी की पहचान राजीव के रूप में हुई है वह स्विमिंग कोच रह चुका है और करोल बाग स्थित एक होटल के स्विमिंग पूल में काम करता था।

डीसीपी सेजू कुरुविला के मुताबिक, पुलिस अफसरों के मुताबिक आरोपी के इस खुलासे पर पुलिस को भरोसा नहीं हो रहा था। लेकिन एक दिसंबर को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पता चला कि सोनिया की हत्या गला घोटकर की गई है। इसके बाद पुलिस ने हत्या का धारा जोड़कर मामले की छानबीन में जुट गई। आरोपी राजीव पत्नी सोनिया और चार साल के बेटे के साथ मुंडका इलाके में रहता था। कुछ महीने पहले उसकी नौकरी छूट गई थी। इसके लिए वह कुछ लोगों को जिम्मेदार मानता था। इसलिए वह करीब आठ लोगों से बदला लेना चाहता था। इसके लिए उसने एटा से तीन पिस्टल और 25 कारतूस खरीदे। इस बात की भनक उसकी पत्नी सोनिया को लग गई। सोनिया ने पति को ऐसा न करने की सलाह दी। उसने बार-बार कहा कि अगर ऐसा किया तो उसका क्या होगा। राजीव को भी डर सताने लगा कि सोनिया और उसके बच्चे का क्या होगा।

पूछताछ में खुलासा हुआ कि 24 नवंबर को राजीव ने अपनी पत्नी हाथ-पैर का बेड से बांध दिया और उसे करंट लगाने लगा। करंट लगाने से सोनिया बेहोश हो गई। फिर राजीव ने गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। उसके बाद वह पत्नी को लेकर अस्पताल पहुंचा और करंट लगने की बात बताई। शादी के पांच साल हुए थे इसलिए जांच की जिम्मेदारी एसडीएम को सौंपी गयी। 26 नवंबर को पुलिस को पता चला कि राजीव कहीं भाग रहा है। टीम ने आरोपी को बस स्टॉप से दबोच लिया। पूछताछ में राजीव ने खुलासा किया कि अपनी नौकरी जाने के लिए वह मैनेजर को जिम्मेदार मान रहा था। इसलिए वह मैनेजर की हत्या करना चाहता था। वह अपनी एक महिला मित्र, उसके पति, अपने कुछ रिश्तेदार और एक दोस्त की हत्या करने की योजना बनाई थी।

– ईएमएस