6.0 तीव्रता के भूकंप से थर्राया अंडमान-निकोबार


अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 6.0 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 6.0 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की वजह से किसी प्रकार की क्षति की अब तक कोई खबर नहीं है। भारतीय राष्ट्रीय महासागर सूचना सेवा केंद्र (आईएनसीओआईएस) के निदेशक एसपीएस शेनोई ने बताया कि भूकंप के बाद अंडमान निकोबार द्वीपसमूह के आसपास समुद्र के जल-स्तर में कोई खास बढ़ोतरी नहीं देखी गई है। उन्होंने कहा इसी वजह से सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की गई है। भूकंप गुरुवार सुबह आठ बजकर 43 मिनट पर आया और इसका केंद्र निकोबार द्वीप क्षेत्र में था। अधिकारियों ने बताया कि अभी भूकंप से जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है। ज्ञात हो कि अंडमान-निकोबार के कुछ इलाकों को जोन-5 में रखा गया है। जोन 5 को भूकंप के लिहाज से सबसे खतरनाक माना जाता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के 38 शहर हाई रिस्क सिस्मिक जोन्स में आते हैं। जबकि 60 फीसदी भूभाग भूकंप को लेकर असुरक्षित हैं। ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड के मुताबिक देश में ज्यादातर निर्माण भूकंप को ध्यान में रखकर नहीं किए गए हैं।

हालांकि इसके दिल्ली मेट्रो जैसे कुछ अपवाद भी हैं। दिल्ली मेट्रो का इस तरह निर्माण किया गया है कि वह भूकंप के झटके सह सकता है। दिल्ली, पटना, श्रीनगर, कोहिमा, पांडुचेरी, गुवाहाटी, गैंगटॉक, शिमला, देहरादून, इंफाल और चंडीगढ़, अंबाला, अमृतसर, लुधियाना, रुड़की सिस्मिक जोन 4 और 5 में आते हैं। जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, उत्तर बिहार और अंडमान-निकोबार के कुछ इलाके जोन-5 में रखे गए हैं।

– ईएमएस