राजस्थान के चुनावी समर में 583 करोड़पति प्रत्याशी, कामिनी सबसे अमीर


राजस्थान विधानसभा के लिए 7 दिसंबर को मतदान होना है। चुनाव में 36 राजनीतिक दलों के 583 करोड़पति उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।
Photo/Twitter
मौजूदा विधानसभा के 197 विधायकों में 141 करोड़पति

नई दिल्ली । 200 विधानसभा सीटों वाली राजस्थान विधानसभा के लिए 7 दिसंबर को मतदान होना है। चुनाव में 36 राजनीतिक दलों के 583 करोड़पति उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। ज्ञात हो कि वर्तमान विधानसभा के 197 विधायकों में 141 प्रत्याशी करोड़पति हैं। इन आंकड़ों को देख कर समझा जा सकता है कि राजनीति में किस तरह धनबल का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है। इस बार सत्ताधारी भाजपा के 152 करोड़पति उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जबकि कांग्रेस ने 141 करोड़पति उम्मीदवारों को टिकट दिया है। चुनाव की निगरानी करने वाली गैर सरकारी संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रैटिक रिफॉर्म (एडीआर) द्वारा चुनावी हलफनामे के आंकलन में सामने आया है कि इस बार राजस्थान में 583 करोड़पति उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

जमींदारा पार्टी की कामिनी जिंदल सबसे अमीर उम्मीदवार हैं, कामिनी की संपत्ति 287 करोड़ रुपए है। दूसरे नंबर पर कांग्रेस उम्मीदवार परसराम मोरदिया हैं, जिनकी संपत्ति 172 करोड़ रुपए है। तीसरे स्थान पर भाजपा विधायक और नीम का थाना से उम्मीदवार प्रेम सिंह बाजौर हैं, जिनकी संपत्ति 142 करोड़ रुपए है। चौथे नंबर पर निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर सादुलशहर से ओम विश्नोई हैं, जिनकी संपत्ति 128 करोड़ रुपए है।

एडीआर द्वारा जारी पिछले आंकड़ों के मुताबिक कामिनी जिंदल की संपत्ति 198 करोड़ रुपए थी, जो अब बढ़कर 287 करोड़ रुपए हो गई है। तो वहीं भाजपा के प्रेम सिंह बाजौर की संपत्ति 87 करोड़ रुपए थी, जो अब बढ़कर 142 करोड़ हो गई है। वहीं कांग्रेस विधायक विश्वेंद्र सिंह जिनकी संपत्ति 118 करोड़ रुपए थी, जो अब घटकर 95 करोड़ हो गई है।

उल्लेखनीय है कि 200 सदस्यों वाली विधानसभा में इस समय 141 विधायक करोड़पति हैं। विधायकों द्वारा दिए गए अपनी संपति के ब्यौरे और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिर्फोंस (एडीआर) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, भाजपा के 157 विधायकों में से 115 विधायक करोड़पति हैं। वहीं कांग्रेस के 25 में से 16, 7 निर्दलियों में 4, एनपीपी के चारों, एनयूजेडपी के 2 में से 1 और बसपा के 2 में से 1 विधायक करोड़पति हैं। इस हिसाब से 197 में से 141 विधायकों के नाम करोड़पतियों की श्रेणी में हैं।

– ईएमएस