विधानसभा नतीजे- मुख्यमंत्रियों की शामत, हार का सामना करना पड़ा


नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर और झारखण्ड के चुनाव परिणाम मुख्यमंत्रियों और पूर्व मुख्यमंत्रियों के लिए बुरी खबर लेकर आए हैं। इन दोनों राज्यों में उनमें से कइयों को हार का मुंह देखना पड़ा। दोनों राज्यों में ५ ऐसे नेता है जो मुख्यमंत्री रह चुके हैं और उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। जम्मू-कश्मीर के वर्तमान मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने दो सीटों से चुनाव लड़ा जिसमें से वे केवल पर एक पर जीत पाए। तो झारखंड में मुख्यमंत्री रह चुके सभी नेताओं को हार का मुंह देखना पड़ा। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला सोनावार से चुनाव हार चुके हैं।

हालांकि बीरवाह से अब्दुल्ला चुनाव जीत गए दूसरे मुख्यमंत्री रहे हेमंत सोरेन को भी दुमका सीट पर हार का मुंह देखना पड़ा। बीजेपी की लुईस मरांडी ने उन्हें वहां से हरा दिया। दुमका शहरी क्षेत्र है और वहां आदिवासी आबादी उतनी नहीं है। लेकिन हेमंत सोरेन ने संथाल क्षेत्र की बरहेट सीट अपने निकटतम प्रतिद्वंदी हेमलाल मुर्मू को २३ हजार से अधिक मतों से हराकर जीत ली।

झारखंड के सबसे बढिय़ा सीएम माने गए बाबूलाल मरांडी हालांकि धनवार में जीत रहे थे, लेकिन अपने ही शहर गिरीडीह में बीजेपी उम्मीदवार निर्भय कुमार से हार गए। पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, जो निर्दलीय होकर भी राज्य के मुख्यमंत्री बने, हार के शिकार हो गए। उन्हें मंझगांव में पराजय का मुंह देखना पड़ा।मधु कोड़ा को मझगांव सीट से १७११ वोटों से भाजपा के बरकुवार गगरई ने हराया। वहीं झारखंड के दो बार मुख्यमंत्री रहे बाबूलाल मरांडी को दो सीटों गिरीडीह और धनवार से हार का सामना करना पड़ा। जबकि तीन बार मुख्यमंत्री रहे अर्जुन मुंडा को खरसवान सीट पर पटखनी मिली। पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा खरसवां से चुनाव हार गए हैं। उन्हें झामुमो के दशरथ गगराई ने ९,००० मतों से पराजित किया है। मुंडा इस सीट से पहली बार १९९५ में झामुमो से विधायक निर्वाचित हुए थे। इसके बाद २००० से २००९ तक तीन बार भाजपा से विधायक रहे। यह तीन बार मुख्यमंत्री रहे हैं। वर्तमान सीएम हेमंत सोरेन को बरहेट सीट पर तो जीत मिल गई लेकिन दुमका में वे पीछे चल रहे हैं और हार के कगार पर है। झारखंड चुनाव में आधा दजर्न बड़े नेताओं को जनता ने हरा दिया। हारनेवालों में पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, बाबूलाल मरांडी, पूर्व उपमुख्यमंत्री सुदेश कुमार महतो, पूर्व मंत्री साइमन मरांडी, हेमलाल मुर्मू, राजेंद्र ंिसह, अन्नपूर्णा देवी तथा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत शामिल हैं।