असम में उग्रवादियों के खिलाफ सेना का अभियान जारी


गुवाहाटी । एनडीएफबी के खूनी खेल के बाद अब असम में अब स्थिति शांतिपूर्ण हो गई है। वहीं उग्रवादियों के खिलाफ सेना का अभियान जारी है। बताया गया है कि सेना का अभियान उग्रवादियों के खात्मे तक जारी रहेगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने पुलिस महानिदेशक के साथ ाqस्थति की समीक्षा की। इस दौरान राहत शिविरों की संख्या में भी इजाफा किया गया और इसमें शरण लेने वालों की तादाद भी बढ़ी है।
मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों के मुताबिक गोगोई ने डीजीपी खगेन शर्मा को िंहसाग्रस्त इलाकों में ाqस्थति जल्द सामान्य करने की बात कही है, ताकि लोग अपने घरों की ओर लौट सवेंâ। उन्होंने प्रदेश के मुख्य सचिव, आपदा प्रबंधन, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधिकारियों के साथ भी हालात पर चर्चा की। राज्य गृह आयुक्त प्रतीक हलेजा ने बताया कि ाqस्थति पूरी तरह प्रदेश सरकार के काबू में है।
असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पीके तिवारी ने कहा कि िंहसा से प्रभावित लोगों के लिए राहत शिविरों की संख्या में इजाफा किया गया है। इसे ८१ से बढ़ाकर १३६ कर दिया गया है, जिसमें एक लाख ७६ हजार से ज्यादा लोगों ने शरण ले रखी है। प्रशासन िंहसा प्रभावित चारों जिलों कोकराझाड़, शोणितपुर, चिरांग व उदालगुड़ी में मुस्तैदी से राहत कार्यो में जुटा है।