असम के राहत शिविरों में करीब ३ लाख लोग


गुवाहाटी । एनडीएफबी (एस) उग्रवादियों के हमले के बाद करीब २.९ लाख लोग असम के चार जिलों में राहत शिविरों में रह रहे हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के आधिकारिक बयान में कहा कि करीब २.८६ लाख लोग कोकराझाड़, सोनितपुर, चिरांग और उदलगुरी जिलों में १३९ राहत शिविरों में रह रहे हैं। कोकराझाड़ में ९२ राहत शिविर खोले गए हैं और २.३५ लाख लोग इन शिविरों में शरण ले रहे हैं। चिरांग में करीब ३५,००० लोग २६ शिविरों में रह रहे हैं। अधिकारियों ने सोनितपुर जिले में १२ राहत शिविर खोले हैं और १२००० लोग इन स्थानों पर इस वक्त रह रहे हैं। उदलगुरी जिले में नौ शिविर हैं जहां करीब ५,००० लोगों ने शरण ले रखी है। प्राधिकरण ने बताया कि खाने पीने की चीजें, बच्चों का भोजन और वंâबल जैसी राहत सामग्री की कोई कमी नहीं है।
गौरतलब है कि २३ दिसंबर की शाम से एनडीएफबी (एस) उग्रवादियों के सिलसिलेवार हमलों, जवाबी िंहसा और पुलिस गोलीबारी में कुल ८१ लोग मारे गए हैं जिनमें २६ महिलाएं और १८ शिशु भी शामिल हैं।