मरते-मरते रोडवेज की बस का ड्राइवर बचा गया 23 यात्रियों की जान


गुजरात के नडियाद-गोधरा रूट पर राज्य परिवहन की बस चला रहे एक ड्राइवर ने मरते-मरते कुछ ऐसा किया कि लोगों की आंखें नम हो गईं। ।

अहमदाबाद । गुजरात के नडियाद-गोधरा रूट पर एक दिल को छू लेने वाला मामला सामने आया है। राज्य परिवहन की बस चला रहे एक ड्राइवर ने मरते-मरते कुछ ऐसा किया कि लोगों की आंखें नम हो गईं। ।

जानकारी के मुताबिक खेडा जिले के नडियाद से यात्रियों को लेकर रोडवेज की बस पंचमहल जिले के गोधरा की ओर जा रही थी। रास्ते में बस चला रहे ड्राइवर को अचानक हार्ट अटैक आ गया। जैसे ही ड्राइवर को सीने में तेज दर्द उठा उसने तुरंत हिम्मत और समझदारी दिखाते हुए तेज रफ्तार में चल रही बस को सडक़ किनारे लगाकर खड़ा कर दिया। बस का कंडक्टर जैसे ही ड्राइवर के पास बस खड़ी करने की वजह पूछने आया तब तक ड्राइवर की जान जा चुकी थी। कंडक्टपर ने राज्य परिवहन में घटना की जानकारी दी। घटनास्थल पर पहुंचे डॉक्टर्स ने ड्राइवर को मृत घोषित कर दिया। ड्राइवर की इस सतर्कता और समझदारी को देखकर बस में मौजूद सवारियों की भी आंखें भर आईं। बताया जा रहा है कि बस में कंडक्टर सहित 23 लोग सवार थे। इस घटना के बाद सभी यात्रियों को दूसरी बस से गोधरा पहुंचाया गया।

– ईएमएस