मोनमोहनसिंह ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर मोदी सरकार पर किया प्रहार


राजकोट (ईएमएस)| पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर पीएम मोदी समेत भाजपा सरकार पर कड़े प्रहार किए| उन्होंने कहा कि नोटबंदी की आड़ में ब्लेकमनी व्हाईट हो गया| जीएसटी से जेतपुर, सूरत, मोरबी और वापी के छोटे उद्योग ठप हो गए| नोटबंदी के कारण रोजगार पर प्रभाव पड़ा| नए रोजगार के अवसर घटते जा रहे हैं| भारत की अर्थव्यवस्था की कमजोरी का फायदा चीन उठा रहा है|

राजकोट में पत्रकार परिषद को संबोधित करते हुए मनमोहनसिंह ने कहा कि कांग्रेस गुजरात के उद्योगकारों की वेदना जीएसटी कौंसिल के समक्ष पेश करेगी| उन्होंने राजकोट के ऑटोमोबाइल सेक्टर पर 28 प्रतिशत जीएसटी आश्चर्यजनक करार दिया| कांग्रेस ने पिछले 70 साल में भारत की अर्थव्यवस्था को पावरफूल बनाया था| लेकन नोटबंदी ने अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया और कोई आशा फलीभूत नहीं हुई| जीएसटी के खिलाफ आवाज उठाने वालों को आज चोर और राष्ट्रविरोधी माना जा रहा है| जीएसटी और नोटबंदी से फायदे को लेकर हर कोई सवाल कर रहा है|

उन्होंने कहा कि जीडीपी में एक प्रतिशत की कमी यानि देश को रु. 1.5 लाख करोड़ का नुकसान हुआ है| देश की अर्थतंत्र की मंदी का फायदा चीन को हो रहा है| अयोध्या मामले पर पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि फिलहाल यह केस कोर्ट में विचाराधीन है और सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा वह कांग्रेस को मंजूर होगा| फिलहाल इस मुद्दे पर मैं कोई चर्चा करना नहीं चाहता| नर्मदा के बारे में मनमोहनसिंह ने कहा कि नरेन्द्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री तब उन्होंने मिलने का समय मांगा था और मैंने दिया भी था| लेकिन मोदी और मेरे बीच कभी नर्मदा मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई| मोदी ने कभी उनके साथ नर्मदा योजना पर कोई बातचीत नहीं की|

गौरतलब है कि मनमोहनसिंह यह बयान इसलिए काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि पीएम मोदी अपनी रैलियों में नर्मदा मुद्दे को लेकर लगातार आरोप लगा रहे हैं कि मनमोहनसिंह ने गुजरात के साथ अन्याय किया था| मनमोहनसिंह ने कहा कि गुजराती लोग अब भाजपा को अच्छी तरह पहचान गए हैं| अच्छे दिन के वादे कर भाजपा ने वोट ले लिए और लोग परेशान हो रहे हैं| उन्होंने कहा कि गुजरात में विकास के बड़े बड़े दावे जरूर किए जा रहे हैं, वास्तव में विकास केवल 4-5 उद्योगपतियों का ही हुआ है|