दलितों के विरोध प्रदर्शन के बीच अहमदाबाद में मेवाणी हिरासत में


अहमदाबाद (ईएमएस)। गुजरात में पुलिस ने विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और उनके साथियों को हिरासत में ले लिया है। उन्होंने पाटन में दलित सामाजिक कार्यकर्ता भानुभाई वणकर की मौत के मामले में विरोध प्रदर्शन करने का एलान किया था। इसके लिए उन्होंने लोगों से सारंगपुर में अंबेडकर प्रतिमा के पास जमा होने को कहा था। हालांकि वह अपना कार्यक्रम कर पाते, इससे पहले ही पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। वहीं अहमदाबाद में प्रदर्शन हिंसक हो गया है। लोगों ने कारों को आग लगा दी। हिंसा पर काबू पाने के लिए पुलिसबल को सड़क पर उतरना पड़ा। बता दें कि पाटन में जमीन विवाद में दलित सामाजिक कार्यकर्ता भानुभाई वणकर ने कलेक्टर ऑफिस के बाहर खुद को आग लगा ली थी। बाद में गांधीनगर के अस्पताल में उनका निधन हो गया था। इसके बाद दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने अहमदाबाद बंद का एलान किया था। इसी मामले में वह यह कार्यक्रम कर रहे थे। उत्तर गुजरात के उंझा में भी बंद का एलान किया गया था। हालांकि जब लोग हाइवे जाम करने पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया। विरोध करने पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इस मामले को लेकर हार्दिक पटेल ने भी भानुभाई वणकर के परिवार से मुलाकात की और कहा कि वह न्याय दिलाने में पूरा सहयोग करेंगे। गौरतलब है कि दलितों को सरकार की ओर से आवंटित जमीन के कब्जे की मांग को लेकर दलित सामाजिक कार्यकर्ता भानुभाई वणकर ने गुरुवार को कलेक्टर ऑफिस में खुद को आग ली थी। शुक्रवार रात अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया। इसके बाद से ही लोग न्याय के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं।