गुजरात पहुंचने के पहले ही कमजोर पड़ा ‘ओखी’


एहतियाती सावधानी जारी

अहमदाबाद (ईएमएस)। सूरत की तरफ बढ़ने के साथ ही तूफान ओखी कमजोर गया है। संभव है कि अब यह तूफान गुजरात के तट से न टकराए। पहले सूरत के पास गुजरात के तट पर पहुंचने की आशंका जताई गई थी। मौसम विभाग के मुताबिक, सूरत के दक्षिण पश्चिम किनारे से 240 किलोमीटर दूर ओखी कमज़ोर पड़ गया। विभाग के मुताबिक अब तूफान में 18 किलोमीटर प्रति घंटा की कमी आई है। हालांकि, स्थानीय प्रशासन ने खतरे की चेतावनी को वापस नहीं लिया है, क्योंकि अब भी समुद्र में तेज हवाएं चल रही हैं और भारी बारिश हो रही है।

एक आधिकारिक बयान में मौसम विभाग ने बताया कि मंगलवार और बुधवार की मध्यरात्रि ओखी की तीव्रता में कमजोरी दर्ज की गई है। संभव है कि गुजरात के तट तक पहुंचते हुए यह एकदम सामान्य हो जाए। मौसम विभाग के मुताबिक, सूरत के दक्षिण पश्चिम किनारे से 240 किलोमीटर दूर ओखी कमजोर पड़ गया है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, पिछले छह घंटों में पूर्वी मध्य अरब सागर से उत्तर-पूर्वी दिशा में बढ़ते हुए चक्रवात में 18 किलोमीटर प्रतिघंटा की कमी आई है। मौसम विभाग ने कहा कि ऐसा संभव है कि गुजरात के दक्षिणी किनारे की ओर उत्तर पूर्व में बढ़ते हुए 5-6 दिसंबर की रात ओखी चक्रवात और कमजोर होगा। हालांकि तटों पर तूफान के खतरे की चेतावनी को मौसम विभाग ने वापस नहीं लिया है।

समुद्र में तेज हवाएं और भारी बारिश जारी है। मौसम विभाग के निदेशक जयंत सरकार ने कहा कि चक्रवात पहले ही कमजोर हो गया है। आगे यह और कमजोर पड़ता जाएगा। संभव है यह तट तक आने से पहले ही कमजोर पड़ जाए। उन्होंने कहा सर्दियों में पर्यावरण की स्थितियों के कारण चक्रवात कमजोर पड़ गया है। अगर यह मॉनसून या उससे पहले आता तो स्थितियां अलग हो सकती थीं। इससे पहले मुंबई में ओखी तूफान का असर मंगलवार को दिनभर देखने को मिला। सोमवार रात से लगातार हो रही बारिश के कारण शहर की रफ्तार धीमी हो गई है। इस दौरान किसी के हताहत होने की संभावना नहीं है।

गुजरात के चुनावी अभियान पर भी तूफान ओखी का जबरदस्त असर हुआ है। पहले दौर के चुनाव प्रचार के लिए गुरुवार तक का समय है, लेकिन बिगड़े मौसम ने कांग्रेस-भाजपा दोनों पार्टियों को नई रणनीति बनाने को मजबूर किया है। प्रधानमंत्री की सूरत की रैली टल गई है। इससे पहले दक्षिण भारत में ओखी तूफान ने भयंकर तबाही मचाई है। मौसम विभाग के अनुसार ओखी तूफान मंगलवार की मध्यरात्रि से मुंबई से नजदीक जा पहुंचा है, लेकिन राहत की बात यह है कि इसका असर धीमा पड़ गया है।

मुंबई मौसम विभाग ने समुद्र तट से सटे इलाकों में रहनेवाले लोगों को एहतियात बरतने के निर्देश दिए हैं। यह तूफान गुजरात में स्थित खंभात तक जा पहुंचा है, लेकिन अब यह काफी कमजोर पड़ गया है। एहतियातन सावधानी बरतने के निर्देश जारी किए गए हैं।