महंगा पड़ सकता है डायटिंग करना


मुंबई। अगर आप सोचते हैं कि डायिंटग से आपको फिट रहने में मदद मिल सकती है तो जरा इस नए शोध पर ध्यान दीजिए, जिसमें बताया गया है कि डायिंटग शरीर में विषाक्त पदार्थों का स्राव कर वैंâसर, मधुमेह तथा अन्य घातक रोगों को जन्म दे सकती है। एक अंतरराष्ट्रीय शोध दल ने पाया है कि वजन कम होने से हानिकारक और प्रदूषक तत्व रक्त में मिल जाते हैं जो सामान्य तौर पर शरीर की वसा में संग्रहित रहते हैं। शोध में पाया गया कि यदि वसा उत्तकों से विषाक्त पदार्थों का स्राव होता है तो वजन कम करना हानिकारक हो सकता है और इससे जैविक प्रदूषक तत्वों के जमा होने की रफ्तार बढ़ जाती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इसका मतलब यह है कि विषाक्त प्रदूषक तत्व रक्त प्रवाह के साथ शरीर के अन्य महत्वपूर्ण अंगों में पहुंच जाते हैं। इस शोध के लिए शोधकर्ताओं ने ४० वर्ष से अधिक आयु के १०९९ लोगों के वजन का दस साल तक अध्ययन किया और सात सर्वाधिक खतरनाक प्रदूषक तत्वों पर निगरानी रखने के लिए उनके कई बार रक्त परीक्षण किए गए। शोधकर्ताओं ने वजन कम करने वाले लोगों के रक्त में कुछ रसायनों की मात्रा अधिक पाई। ये रसायन स्तन वैंâसर, अल्जाइमर, र्पािनसन, माqस्तष्क को क्षति पहुंचाने वाले और स्नायु तंत्र को प्रभावित करने वाली बीमारियों को पैदा करने वाले थे।