नवजात को मोटा बना सकते हैं एंटीबायोटिक!


मुंबई। नवजात शिशुओं को एंटीबाइटिक देने से वे बचपन में ही मोटापे का शिकार हो सकते हैं। यह बात कुछ बच्चों पर किए गए शोध से सामने आई है। शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन शिशुओं को जन्म से पांच महीने तक एंटीबाइटिक दिया जाता है, उनका वजन उनकी लम्बाई की अपेक्षा एंटीबाइटिक न लेने वाले शिशुओं से ज्यादा तेजी से बढ़ता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक १० से २० माह के बच्चों में यह बॉडी मॉस पर्सेटाइल में कम वृद्धि के रूप में नजर आता है। जबकि एंटीबाइटिक का सेवन करने वाले ३८ माह तक के बच्चों में मोटापे की सम्भावना २२ प्रतिशत ज्यादा रहती है। एक बयान के मुताबिक हालांकि एंटीबाइटिक का सेवन करने वाले छह से १४ माह के बच्चों में एंटीबाइटिक न लेने वाले बच्चों के मुकाबले वजन में कोई खास अंतर नहीं देखा गया। यह शोध सिर्पâ एंटीबाइटिक और मोटापे में सह-सम्बंध को दर्शाता है। यह अब तक का ऐसा पहला शोध है जिसमें शैशवास्था में दी जाने वाली एंटीबाइटिक और बॉडी मास के बीच सम्बंध दिखाया गया है।