एल्कोसिंथ को शराब के रुप में पीना शुरु कर देंगे लोग


लंदन (ईएमएस)। आने वाली पीढ़ी शराब नहीं उसकी जगह,एल्कोसिंथ नाम का सिंथेटिक अल्कोहल पिया करेगी। यह दावा एक वैज्ञानिक ने किया है सिर्फ 10 या 20 सालों में एल्कोसिंथ नाम का सिंथेटिक अल्कोहल असली शराब की जगह ले लेगा। वैज्ञानिकों की मानें तो अगली पीढ़ी शराब छोड़ कर सिंथेटिक अल्कोहल की तरफ बढ़ने लगेगी। प्रोफेसर डेविड नट ने बताया कि इस शराब को पीने से असर तो वैसा ही होगा,लेकिन ये स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं होगी।

उनका मानना है कि आने वाले समय में सिगरेट और तंबाकू की जगह भी ई-सिगरेट्स ले लेंगी। उनके मुताबिक,आने वाले 10 से 20 सालों में ये बदलाव आ सकता है। वेस्टर्न सोसाइटीज शराब नहीं पीएंगी।एल्कोसिंथ ही प्रिफर्ड ड्रिंक होगी, उसी तरह मैं देख सकता हूं कि लगभग एक दशक के अंदर पश्चिमी दुनिया में तंबाकू और सिगरेट भी खत्म हो जाएंगे क्योंकि इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट्स इसकी जगह लेगी।’ प्रो. नट का वेंचर एल्केयरले इसके लिए 12 मिलियन डॉलर का निवेश कर रहा है, ताकि हैंगओवर फ्री शराब ब्रिटेन, यूएस,ईयू और कनाडा के मार्केट तक पहुंच सके।