एम्स में रेडियोथैरेपी के लिए डेढ़ साल, हार्टसर्जरी के लिए 5 साल की वेटिंग


नई दिल्ली (ईएमएस)। देश के सबसे बड़े चिकित्सीय संस्थान एम्स में वेटिंग, वेटिंग और सिर्फ वेटिंग। ४ माह की बच्ची को दिल का ऑपरेशन कराने के लिए ५ वर्ष की डेट मिलती है। जबकि अब कैंसर पीड़ित मरीजों को रेडियोथैरेपी कराने के लिए डेढ़ वर्ष बाद अस्पताल आने की सलाह दी गई है। एक ओर केंद्र सरकार हर साल कैंसर की वजह से बढ़ रही मौतों को नियंत्रण में लाने का प्रयास जारी है। वहीं, एम्स में कैंसर मरीजों की लंबी वेटिंग ने डॉक्टरों को भी परेशानी में डाल दिया है। इनकी मानें तो सरकार की लापरवाही और मंत्रियों की वजह से मरीजों को बगैर उपचार घर भेजने जैसा पाप करना पड़ रहा है। इन सब के बीच इलाज कराने पहुंची एक बुजुर्ग महिला का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। बुजुर्ग महिला बता रही है कि वह कई महीने से कैंसर की बीमारी से ग्रस्त है। जगतपुर निवासी शकुंतला देवी का कहना कि उन्हें रेडियोथैरेपी कराने के लिए दिसंबर २०१९ की डेट मिली है। गरीबी के बोझ से दबी शकुंतला डॉक्टरों के आगे अपनी लाचारी भी जताती है लेकिन उसकी सुनवाई करने वाला कोई नहीं। वीडियो में ६३ वर्षीय शकुंतला कहती हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबों के मसीहा हैं। वे हमेशा गरीबों की सुनते हैं। मेरी भी सुनेंगे। (रोते हुए) उन्होंने एम्स के वेटिंग सिस्टम को ठीक करने और अपना इलाज जल्द से जल्द कराने की अपील भी की है।