25 जनवरी को प्रदर्शित होगी ‘ठाकरे’, ढाई मिनट का ट्रेलर लांच


नवाजुद्दीन सिद्दीकी स्टारर शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे की बायोपिक 'ठाकरे' का ट्रेलर वडाला के आईमैक्स में रिलीज किया गया।
Photo/Twitter

मुंबई । नवाजुद्दीन सिद्दीकी स्टारर शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे की बायोपिक ‘ठाकरे’ का ट्रेलर वडाला के आईमैक्स में रिलीज किया गया। फिल्म में नवाजुद्दीन ने ठाकरे की भूमिका निभाई है। यह फ‍िल्म 25 जनवरी 2019 को हिंदी और मराठी भाषा में एक साथ र‍िलीज की जाएगी। बाल ठाकरे को ‘मराठी मानुष’ और हिंदुत्व की राजनीति के लिए जाना जाता है।

ठाकरे फिल्म के निर्माता शिवसेना सांसद संजय राउत हैं। उन्होंने ही इस फिल्म इसकी स्क्रिप्ट भी लिखी है। फिल्म का निर्देशन अभिजीत पानसे ने किया है। ट्रेलर को वायकॉम-18 मोशन पिक्चर्स के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर रिलीज किया गया है। 2 मिनट 54 सेकंड के इस ट्रेलर में नवाजुद्दीन सिद्दीकी हूबहू बाल ठाकरे के किरदार को पर्दे पर उतारते हैं। पेंटिंग करने से लेकर राजनीति में उतरने तक की कहानी को ट्रेलर में दिखाने की कोशिश की गई है।

फिल्म में अपने किरदार को हकीकत के ज्यादा से ज्यादा करीब ले जाने के लिए नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने मराठी की अलग से क्लासेज ली थीं। ट्रेलर की शुरुआत उस वक्त के दृश्यों से होती है, जब बॉम्बे में अराजकता का माहौल था। बात-बात पर दंगे हो जाया करते थे और पुलिस प्रशासन आतताइयों के जूते की नोंक पर हुआ करता था। ट्रेलर में दिखाया गया है कि किस तरह बाल ठाकरे ने लोगों के बीच जाकर उनकी तकलीफ को समझा और फिर उन दिक्कतों को हल करने का बीड़ा उठाया।

बाल ठाकरे की तत्कालीन गृहमंत्री मोरारजी देसाई के साथ वैचारिक टक्कर को भी ट्रेलर में जगह दी गई है। मोरारजी देसाई के अलावा इंदिरा गांधी के किरदार को भी बड़ी खूबसूरती से पर्दे पर उतारा गया है। बाबरी मस्जिद विध्वंस में भी बाल ठाकरे का नाम आया था जिसे लेकर उन्हें कोर्ट में पेश होना पड़ा था। कोर्ट की सुनवाई के सीक्वेंस को भी ट्रेलर में जगह दी गई है। दूसरी तरफ, सेंसर बोर्ड ने मूवी के कुछ दृश्यों पर आपत्ति जताई है। जिसके बाद निर्माता और सेंसर के बीच आपसी सहमति के बाद दो ऑडियो मोडिफाई करने पड़े हैं।

– ईएमएस